UP Board Solutions for Class 8 Agricultural Science Chapter 4 पशपालन (क) गंगातीरी

UP Board Solutions for Class 8 Agricultural Science Chapter 4 पशपालन (क) गंगातीरी

These Solutions are part of UP Board Solutions for 8 Agricultural Science. Here we have given UP Board Solutions for Class 8 Agricultural Science Chapter 4 पशपालन (क) गंगातीरी

इकाई-4 पशपालन (क) गंगातीरी
अभ्यास

प्रश्न 1.
सही उत्तर पर(✔) का चिह्न लगाइए (चिह्न लगाकर)
उत्तर :

  1. गरीब की गाय कहलाती है
    (क) गाय
    (ख) भैंस
    (ग) भेड़
    (घ) बकरी (✔)
  2. संदूषित दूध से फैलने वाली बीमारी है|
    (क) एड्स|(ख) कैंसर|
    (ग) टी0वी0 (✔)
    (घ) पोलियो
  3. गाय की नस्ल नहीं है
    (क) गंगातीरी
    (ख) मिनोरका
    (ग) नागौरी
    (घ) भदावरी (✔)
  4. सिन्धी गाय है
    (क) दुधारू गाय की नस्ल (✔)
    (ख) दुकाजी गाय की नस्ल
    (ग) भरवाही गाय की नस्ल
    (घ) भैंस की नस्ल
  5. स्वच्छ दूध में होना चाहिए
    (क) न्यूनतम जीवाणु (✔)
    (ख) अवांछनीय गन्ध
    (ग) अधिक वसा
    (घ) कम पानी
  6. सबसे मीठा दूध होता है|
    (क) गाय का दूध
    (ख) भैंस का दूध
    (ग) बकरी का दूध
    (घ) माँ का दूध (✔)

प्रश्न 2.
निम्नलिखित वाक्यों में रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए (पूर्ति करके)
उत्तर :
(क) पुआल और भूसा अदलहनी सूखा चारा है।
(ख) वरण प्रजनन की आधार शिला है।
(ग) केंचुए को प्रकृति का हलवाहा कहते हैं।
(घ) मुँहपका खुरपका बीमारी एक विषाणु से फैलती है।
(ङ) जोंक एक बाह्य परजीवी जन्तु है।
(च) दूध में मिठास दुग्ध शर्करा के कारण होती है।
(छ) अमृत महल भारवाही गाय की नस्ल है।
(ज) दूध एक सम्पूर्ण आहार है।

प्रश्न 3.
निम्नलिखित कथनों पर (✔) तथा गलत पर (✘) का निशान लगाइए (निशान लगाकर)
उत्तर :
(क) गाय के दूध का पीला रंग कैरोटीन के कारण होता है।                                                           (✔)
(ख) वरण का तात्पर्य अनिच्छित पशुओं को अलग करना है।                                                         (✘)

(ग) भ्रूण प्रत्यारोपण तकनीक से 1 वर्ष में एक ही गाय के 10-12 बच्चे प्राप्त किए जा सकते हैं।  (✘)
(घ) मक्का दलहनी चारा है।                                                                                                                 (✘)
(ङ) पूर्ण हस्त दोहन दूध दोहन की सर्वोत्तम विधि है।                                                                      (✔)
(च) पशु के थूथन व मुँह का नम होना उसके बीमार रहने का लक्षण है।                                       (✘)
(छ) देश में कुल दुग्ध उत्पादन का 55% हिस्सा गाय से प्राप्त होता है।                                          (✘)

प्रश्न 4.
दूध क्यों फटता है?
उत्तर :
जब जीवाणु दूध में पहुँच जाते हैं तो वे तेजी से बढ़ते हैं और सारे दूध को दूषित कर देते हैं। दूध जीवाणु की वृद्धि का सर्वोत्तम माध्यम है। जीवाणु वृद्धि से दूध में अम्लता बढ़ जाती है और दूध फट जाता है।

प्रश्न 5.
यदि आपकी भैंस प्रतिदिन 10 लीटर दूध देती है तो उसे आप जीवन-निर्वाह एवं दुग्ध उत्पादन हेतु कुल कितना दाना प्रतिदिन खिलाएँगे?
उत्तर :

जीवन निर्वाह हेतु दाना – 2 किग्रा)
दुग्ध उत्पादन हेतु        – 4 किग्रा0
कुल मात्रा                     – 6 किग्रा0 दाना प्रतिदिन देना चाहिए।

प्रश्न 6.
आपकी गाय अफरा रोग से ग्रसित है तो आप क्या करेंगे?
उत्तर :
अफरा रोग का उपचार निम्न प्रकार करेंगे

(i) एक-दो दिन तक बरसीम व हरा चारा नहीं देंगे।
(ii) तीसी के एक लीटर तेल में 50 ग्राम हर्र व 100 ग्राम काला नमक मिलाकर दो खुराक बनाएँगे तथा प्रत्येक खुराक छह घन्टे के अन्तर पर पिलाएँगे।
(iii) बीमार गाय चिकित्सा हेतु पशु चिकित्सक को दिखाएँगे।

प्रश्न 7.
यदि बछड़े के गोबर में गोलकृमि (पेट का केंचुआ) है तो इससे बचने हेतु क्या उपाय करेंगे?
उत्तर :
बछड़े के लिए प्रथम बार कृमिहर दवा का प्रयोग 25 दिन की आयु में किया जाता है। प्रचलित कृमिहर दवाओं में पिपराजीन, नीलवार्म फोर्ट, बेनामिन्थ, निलजान तथा टोलजान दवाएँ प्रमुख हैं, जिन्हें पशु चिकित्सक के परामर्श के अनुसार देना चाहिए।

प्रश्न 8.
किन्हीं दो नस्ल की गायों के चित्र बनाइए और उनमें अन्तर बताइए।
उत्तर :
गाय की दो किलें

1. सिन्धी गाय : शरीर मोटा, लाल रंग के सींग, लटकते कान, बड़े थन, काली पूँछ, औसत दृध 1605 कि0 प्रति व्याँत
2. हरियाणवी गाय : लम्बा टोस शरीर, छोटे सींग, सफेद रंग, चौकन्ने कान, औसत दूध उत्पादन 1136 किग्रा प्रति ब्याँत, अच्छे बैलों के लिए प्रसिद्ध नस्ल ! सिन्धी गाय हरियाणवी गाय
UP Board Solutions for Class 8 Agricultural Science chapter 1 मृदा गठन या मृदा कणाकार 5

प्रश्न 9.
स्तम्भ ‘क’ का स्तम्भ ‘ख’ में दिए गए तथ्यों से सही-सही मिलान कीजिए (मिलान करके)
उत्तर :

स्तम्भ ‘क’                                                             स्तम्भ ‘ख’
मुंहपका खुरपका                                                विषाणु
अफरा                                                                     पेट में गैस हो जाना
पेचिश (खूनी दस्त)                                                 सड़ा-गला दूषित चारा व पानी

प्रश्न 10.
पशुधन विकास के मूलभूत तत्व लिखिए।
उत्तर :
पशुधन विकास के मूलभुत तत्व :

  1. प्रजनन,
  2. पोषण,
  3. पशु-प्रबन्धन,
  4. पशुओं की सामान्य बीमारिया आदि हैं।

प्रश्न 11.
आहार किसे कहते हैं? आहार कितने प्रकार का होता है, उत्पादन आहार के बारे में लिखिए?
उत्तर :
पशुओं को 24 घण्टे में दिए जाने वाले दाना-पानी की कुल मात्रा को पशु आहार (राशन) कहते हैं। आहार के मुख्य घटक हैं : (i) चारा (ii) दाना, वारा दो प्रकार का है- हरा चारा व सूखा बारा। हरे चारा में मक्का, ज्वार, बाजरा, जई, अदलहनी हरा चारा तथा बरसीम, लोबिया, मूंग, उड़द, सोयाबीन है। सूखा धारा में भूसा, पुआल आदि होता है। दाना में मूंगफली, सरसों, तिल, गेहूँ, मक्का, जी, जई आदि आते हैं। पशुआहार मुख्यतः दो प्रकार का है- जीवन निर्वाह आहार और दुग्ध उत्पादन आहार । उदाहरण के लिए बिना दूधवाली भैंस को 2 किलोग्राम दाना प्रति 100 किलो भार पर देना जरूरी होता है। दुग्ध उत्पादन की दृष्टि से 2.5 किलोग्राम दूध के हिसाब से एक किलोग्राम अधिक दाना देना जरूरी होता है।

प्रश्न 12.
स्वच्छ दूध किसे कहते हैं? दूध में संदूषण के स्रोतों का उल्लेख कीजिए।
उत्तर :
जिस दूध में धूल व गन्दगी न हो, जीवाणुओं की न्यूनतम संख्या हो, अवांछनीय गन्ध न हो और जो अधिक समय तक सुरक्षित रखा जा सके, स्वच्छ दूध कहा जाता है। ऐसा दृध स्वस्थ पशु से स्वस्थ वातावरण में प्राप्त होता है।
दूध में संदूषण के स्रोत :

(A) आन्तरिक कारण :

  1. थनैलाग्रस्त थन
  2. शुरुआती दूध

(B) बाह्य कारण :

  1. गाय का थन
  2. गाय के शरीर की त्वचा
  3. दूध दुहने वाला
  4. दूध का बर्तन
  5. पशु वाड़ा
  6. दूध दुहने का तरीका
  7. आहार व पानी

प्रश्न 13.
बीमार पशु के लक्षण लिखिए तथा किसी एक बीमारी का वर्णन कीजिए।
उत्तर :

  1. बीमार पशु के थूथन तथा मुँह बीमार होने पर सूखे रहते हैं, जबकि स्वरथ पशु को नम होता है।
  2. पशु धीरे-धीरे चारा खाना बन्द कर देता है। कान ढीले होकर लटक जाते हैं। पशु का गोबर ज्यादा कड़ा या पतला हो जाता है।

खुरपका मुँहपका बीमारी :  मुँह/खुर पक जाते हैं। यह विषाणु जनित बीमारी है। इस बीमारी में पशु लँगड़ाता है। और दुग्ध उत्पादन भी कम हो जाता है।
उपचार :  पशुओं को टीका लगवाना चाहिए। दूसरों से अलग रखना चाहिए। नर्म, पाचक आहार देना चाहिए। छालों को लाल दवा से धोना चाहिए। ऐसा दिन में 2-3 बार करना चाहिए। खुर के छालों  को तूतिया के घोल और फिनायल से धोना चाहिए।

प्रश्न 14.
निम्नलिखित वर्ग पहेली में गाय की 10 नस्लों के नाम लिखे हैं। उनके नाम छाँटिए।
उत्तर :

  1. जर्सी
  2. खेरीगढ़
  3. सिन्धी
  4. हरियाणा
  5. गंगातीरी
  6. नागौरी
  7. फ्रीजियने
  8.  केनवरिया
  9. थारपारकरे
  10. पंवार

We hope the UP Board Solutions for Class 8 Agricultural Science Chapter 4 पशपालन (क) गंगातीरी help you. If you have any query regarding UP Board Solutions for Class 8 Agricultural Science Chapter 4 पशपालन (क) गंगातीरी , drop a comment below and we will get back to you at the earliest.

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *