UP Board Solutions for Class 12 English The Merchant of Venice Long Answer Type Questions

UP Board Solutions for Class 12 English The Merchant of Venice Long Answer Type Questions

UP Board Solutions for Class 12 English The Merchant of Venice Long Answer Type Questions are part of UP Board Solutions for Class 12 English. Here we have given UP Board Solutions for Class 12 English The Merchant of Venice Long Answer Type Questions.

UP Board Solutions for Class 12 English The Merchant of Venice Long Answer Type Questions

Answer One of the following questions in not more than 75 words :
Question 1.
What is the importance of opening scene of ‘Merchant of Venice’?
(Merchant of Venice के प्रथम दृश्य का क्या महत्त्व है ?)
Or
Opening scene of the Merchant of Venice is the key note of the whole play. Discuss.
(Merchant ofVenice का प्रथम दृश्य पूरे नाटक की कुंजी है। विवेचना कीजिए।)
Or
Describe the scene you liked most in the play “The Merchant of Venice’.
(Merchant of Venice में जो दृश्य आपको सबसे अधिक पसन्द हो, लिखिए।) [2012]
Answer :
(1) Key Note of the Play : In the opening scene Shakespeare introduces the main characters and events of the play. First of all we are introduced to Antonio, the rich merchant of Venice and his friends. Then Antonio’s sadness strikes the keynote of the comedy. His friends think that the cause of his sadness must be either, his anxiety about his ventures abroad or he must be in love with someone. But he himself thinks that he is by nature sad and has a sad part of play in life.

(2) Antonio’s Generosity :
Then we are introduced to Bassanio, a close friend of Antonio. Bassanio is a spend thrift who has borrowed huge sums of money from Antonio and has wasted them. He now desires more money to go to Belmont to win the hand of rich and most beautiful Portia. But Antonio thinks in a generous way.

(3) Seeds of Various Stories :
Antonio has no ready money. So he authorises Bassanio to borrow the money on his credit from any quarter at any rate of interest. Bassanio goes to Shylock, a great enemy of Antonia. Yet in a revengeful mood, he agrees to give money on execution of bond signed by Antonio. Antonio signs the bond. Thus bond story here takes birth. Getting the money Bassanio will go to Belmont where casket story will take birth. Bassanio is the source of bond story and he is the hero of casket story. Thus the two stories are here interconnected. A hint has also been given in this scene of the elopment of Jessica with Lorenzo.

Thus in every way, the scene is of essential dramatic importance. It strikes the keynote of the play, introduces the main characters as well as different stories which form the part of the play.

(1) नाटककी कुंजी – प्रथम दृश्य में शेक्सपियर मुख्य-मुख्य पात्रों तथा नाटक की घटनाओं का परिचय कराता है। सर्वप्रथम हमें एण्टोनियो का परिचय होता है जो वेनिस का एक धनी व्यापारी है और उसके मित्रों का परिचय होता है। फिर एण्टोनियो का दुःख सुखांत नाटक की कुंजी की ओर इशारा करता है। उसके मित्र सोचते हैं कि उसके दु:ख का कारण या तो दूर-दूर फैले हुए व्यापार की चिंता हो सकती है या उसे किसी से प्रेम हो सकता है। किन्तु वह स्वयं सोचता है कि वह स्वाभाविक रूप से दु:खी है और पूरे जीवन भर उसे दु:खी ही रहना है।

(2) एण्टोनियो की उदारता – इसके बाद हमें बेसैनियों से परिचय कराया जाता है जो एण्टोनियो का परम मित्र है। बेसैनियो अतिव्ययी है जिसने एण्टोनियो से काफी मोटी रकम उधार ली और सब बरबाद कर दी। अब वह पुनः एण्टोनियो से धन उधार लेना चाहता है ताकि वह अत्यन्त धनवान तथा सुन्दर स्त्री पोर्शिया का हाथ थाम सके। किन्तु एण्टोनियो उदारता से सोचता है।

(3) भिन्न-भिन्न कहानियों के बीज – एण्टोनियो के पास तैयार धन नही है। इसलिए वह बेसैनियो को यह अधिकार दे देता है कि वह किसी भी व्यक्ति से कितने ही ब्याज पर उसके नाम से धन उधार लेले। बेसैनियो शाइलॉक के पास जाता है जो एण्टोनियो का भारी दुश्मन है। फिर भी बदला लेने की मन:स्थिति में वह धन देने के लिए इस शर्त पर तैयार हो जाता है कि एण्टोनियो एक बॉण्ड पर हस्ताक्षर करे। एण्टोनियो बॉण्ड पर हस्ताक्षर कर भी देता है। इस प्रकार यहाँ बॉण्ड स्टोरी का जन्म होता है। धन लेकर बेसैनियो बैलमॉण्ट जाएगा जहाँ कास्केट स्टोरी का जन्म होगा। बेसैनियो बॉण्ड स्टोरी का स्रोत है और वह कास्केट स्टोरी का नायक है। इस प्रकार यहाँ ये दो कहानियाँ एक-दूसरे से जुड़ी हुई हैं। इस दृश्य में जेसिका और लारेजो के भागने का भी इशारा मिलता है।

इस प्रकार हर प्रकार से दृश्य आवश्यक नाटकीय महत्त्व का है। यह नाटक की कुंजी का कार्य करता है, मुख्य-मुख्य पात्रों का तथा भिन्न-भिन्न कहानियों का परिचय कराता है जो नाटक का अंग बनती हैं।)

Question 2.
Describe the ‘Bond Story’ in brief and the conditions in which it happend?
(संक्षेप में बॉण्ड स्टोरी तथा उन शर्तों का वर्णन करो जिनमें यह घटित हुई।)
Or
On what condition did Shylock lend money to Antonio and how Antonio is able to fulfill that condition ?
(शाइलॉक ने किन शर्तो पर एण्टोनियो को धन उधार दिया और एण्टोनियो किस प्रकार उस शर्त को पूरा कर सका ?)
Answer :
The Bond story or the story of Antonio’s borrowing money from Shylock is the main story of the play “The Merchant of Venice’. Bassanjo is the close friend of Antonio. He wants to go to Belmont to win the hand of rich and most beautiful lady Portia in marriage. But he has no money. So he requests Antonio to give him three thousand ducats on loan. But Antonio also has no ready cash at the moment. So Antonio authorises Bassanio to borrow money on his credit from any quarter at any rate of interest.

Bassanio goes to Shylock who at once agrees but on a condition that he will have the right to take a pound of flesh from near Antonio’s heart if the money is not returned with in three months. Shylock makes this condition merely as a joke. Although Bassanio feels apprehensive yet Antonio takes the matter laughingly because he is confident that his ships will return with in three months and he would be able to repay the loan without any penalty.

Thus the condition which was thought to be a joke, is turned into a legal bond. Antonio does not consider even for a moment the consequences of the bond if by chance his ships do not return or are delayed. The motto of Shylock behind this bond was to take revenge of the past insults made by Antonio. The suspicion came to be true and the ships of Antonio did not return in time.

(बॉण्ड स्टोरी या एण्टोनियो की शाइलॉक से धन लेने की कहानी इस नाटक की मुख्य कहानी है। बेसैनियो एन्टोनियो का घनिष्ठ मित्र है। वह पोर्शिया नामक स्त्री जो अत्यन्त धनी और सुन्दर है उससे विवाह करने के लिए बेलमॉण्ट जाना चाहती हैं किन्तु उसके पास धन नही है। अत: वह एण्टोनियो के पास से तीन हजार ड्यूकेट्स उसे उधार देने की प्रार्थना करता है। किन्तु एण्टोनियो के पास तुरन्त देने के लिए धन नहीं है। अतः एण्टोनियो बेसैनियो को यह अधिकार देता है कि वह किसी से भी उसकी जमानत पर कितने ही ब्याज पर तीन महीने के लिए धन उधार ले ले।

बेसैनियो शाइलॉक के पास जाता है जो तुरन्त राजी हो जाता है किन्तु इस शर्त पर कि उसे यह अधिकार होगा कि यदि उसका धन तीन महीने के अन्दर वापस न हुआ तब वह एण्टोनियो के हृदय के पास से एक पौंड

मांस ले ले। शाइलॉक इस शर्त को केवल एक मखौल के तौर पर बताता है। यद्यपि बेसैनियो इसे शंकित दृष्टि से देखता है फिर भी एण्टोनियो इस मामले को हँसकर लेता है क्योंकि उसे यह विश्वास है कि उसके जहाज तीन महीने के भीतर अवश्य वापस आ जाएँगे और वह बिना किसी जुर्माने के कर्जा चुका सकेगा। . इस प्रकार वह शर्त जिसे मखौल समझा जा रहा था वह कानूनी बन्धन में बदल जाती है। एण्टोनियो एक पल के लिए भी इस बॉण्ड के परिणामों के विषय में नहीं सोचता है कि यदि संयोगवश उसके जहाज समय से न लौटे या देर हो गई। इस बॉण्ड के पीछे शाइलॉक का उद्देश्य भूतकाल की अपमानजनक बातों का जो एण्टोनियो ने की थी, बदला लेना था। यह सन्देह सच सिद्ध हुआ और एण्टोनियो के जहाज समय पर नहीं लौटे।)

Question 3.
What is the real significance of the lottery of the Caskets ?
(बक्सों की लॉटरी का वास्तविक महत्त्व क्या है?)
Or
Describe the Casket scene in your own words.
(बक्सों के दृश्य का वर्णन अपने शब्दों में कीजिए।) [2012]
Or
Describe and comment on the lottery of Caskets,
(बक्सों की लॉटरी का वर्णन कीजिए और उस पर टिप्पणी कीजिए।)
Answer :
Their Mottoes : It was a will of Portia’s dead father that his daughter Portia would marry the suitos who chooses the right casket. There were three caskets each with an inscription on its lid. The first casket was of gold with the inscription—who chooseth me shall gain what many men desire.’ Another casket was of silver with the inscreption—who chooseth me, shall get as much as he deserves.’ The third casket was of lead with the inscription—who chooseth me, must give and hazard all he hath.’ Well, in one of those caskets lay Portia’s portrait. The man who would happen to choose the casket having Portia’s photo, should marry Portia.

Its Significance : The first significance of the lottery of caskets is that it is a test of character. The choice of a particular casket reveals the mind of the chooser with reference to love. Gold stands for worldly riches which end with death and leads only to miseries. Hence Morocco’s love of gold leads only to death’s head. Silver stands for justice with reference to rewards—To get as much as one deserves. Arragon, by choosing the silver casket, proves himself to be stupid and gets the portrait of an idiot. Lead stands for the soul which is pale in comparison to gold and silver. The soul is true love as it identifies with all beings. The pursuit of the soul implies peace in the world and heavenly bliss in the next. Hence Bassanio is wise and true lover. Dramatically the lottery of the casket brings to light some traits of Portia’s character as well as those of Bassanio.

(उनका उद्देश्य – पोर्शिया के मृत पिता की यह वसीयत थी कि उसकी पुत्री पोर्शिया का विवाह उस प्रेमी से हो जो सही बक्से को चुने। वहाँ तीन बक्से थे और प्रत्येक के ढक्कन पर एक लेख लिखा था। पहला बक्सा सोने का बना हुआ था और उस पर लिखा था, “जो व्यक्ति मुझे चुनेगा उसे वही प्राप्त होगा जो बहुत से व्यक्ति इच्छा करते हैं। दूसरा बक्सा चाँदी का बना था और उस पर लिखा था, “जो व्यक्ति मुझे चुनेगा उसे उतना मिलेगा जितने के वहं योग्य है। तीसरा बक्सा सीसे का बना था जिस पर लिखा था, “जो मुझे चुनेगा उसे उसके पास जो कुछ है देना पड़ेगा और संकट का सामना करना पड़ेगा।’ एक बक्से में पोर्शिया का चित्र था। वह व्यक्ति जो उस बक्से को चुनेगा जिसमें पोर्शिया का चित्र होगा वही पोर्शिया से विवाह करेगा।”

इसका महत्त्व – बक्सों की लॉटरी का सबसे पहला महत्त्व यह है कि यह चरित्र की परीक्षा है। किसी विशेष बक्से की पसन्द यह प्रकट करेगी कि प्रेम के सन्दर्भ में चुनने वाले के मन में क्या है। सोना सांसारिक धन-दौलत को प्रकट करता है जिसका अन्त मृत्यु के साथ हो जाता है और वह केवले दुःखों को जन्म देता है। अतः मोरक्को का सोने के प्रति प्रेम केवल मृत्यु के सर अर्थात् मुर्दे की खोपड़ी की ओर ले जाता है। चाँदी पारितोषक के सन्दर्भ में न्याय का प्रतीक है अर्थात् उतना प्राप्त करना जितने के लिए कोई योग्य हैं अरागीन के द्वारा चाँदी का बक्सा चुनना यह सिद्ध करता है कि वह मूर्ख है और उसे एक मूर्ख का चित्र प्राप्त होता है।

सीसा आत्मा का प्रतीक है जो सोने और चाँदी की तुलना में पीला होता है। आत्मा सच्चे प्यार की प्रतीक है। क्योंकि यह सभी प्राणियों को पहचानती है। आत्मा का अनुसरण संसार में शान्ति और बाद में पारलौकिक

आनन्द को प्रकट करता है। अतः बेसैनियो बुद्धिमान और सच्चा प्रेमी है। नाटकीय रूप में बक्से की लॉटरी पोर्शिया के चरित्र के भी और बेसैनियो के भी कुछ गुणों को प्रकाश में लाता है।)

Question 4.
Discuss the dramatic significance of the Lorenzo Jessica story. [2018]
(लॉरेंजो जेसिका कहानी के नाटकीय महत्त्व की व्याख्या कीजिए।)
Or
“Give an account of Jessica’s elopment with Lorenzo.
(‘जेसिका का लारेंजो के साथ भाग जाने का विवरण दीजिए।)
Or
How is Jessica’s elopment connected with the plot of the play ? [2014, 15]
(जेसिका का भाग जाना नाटक के कथानक से कैसे सम्बन्धित है?)
Answer :
Jessica is the daughter of Shylock. There is ample testimony in the play to show that she is beautiful. Lorenzo is a Christian. The domestic side of Jessica is painful. Her father has been suspicious and repressive and has denied even ordinary freedom to his daughter and has thus compelled her to revolt and elope. Lorenzo is a friend of Bassanio and a great lover of Jessica. He again and again praises her beauty. Ultimately Lorenzo persuades Jessica to marry her. But they cannot marry openly because Shylock would prevent Jessica from marrying a christian. So they make a plan and Jessica runs away from home in the dress of a servant boy. That time, her father Shylock had gone to attend the farewell party of Bassanio. He had handed over all the keys of the house to Jessica. Thus, Jessica got a chance to take much of her father’s wealth and jewels with her. Then both of them travel to Belmont where they go to Portia’s house.

Dramatically it is more significant. This story is highly lyrical and romantic. It furnishes a contrast to the graver and more sober love story of Portia and Bassanio. Reaching Belmont they perform an important dramatic function, they look after the house of Portia and manage it on her behalf when she goes to Venice to defend Antonio in the court. And most of all, the episode furnishes an additional and intensely strong motive for Shylock’s bitterness in pressing his bond.

(जेसिका शाइलॉक की पुत्री है। नाटक में इस बात के काफी प्रमाण कि वह सुन्दर है। लॉरेंजो ईसाई है। जेसिका का घरेलू पक्ष दुःखदायी है। उसके पिता शंका युक्त तथा इतने दबाने वाले रहे हैं कि अपनी पुत्री को साधारण स्वतंत्रता को भी मना कर दिया और इस प्रकार उसे विद्रोह करने तथा भांग जाने को विवश कर दिया। लारेंजो बेसैनियो का मित्र है और जेसिका का बहुत प्रेमी है। वह बारम्बार उसकी सुन्दरता की प्रशंसा करता है। अन्त में लारेंजो जेसिका को उससे शादी करने के लिए उकसाता है किन्तु वे खुलेआम विवाह नहीं कर सकते क्योंकि शाइलॉक एक ईसाई से शादी करने के लिए जेसिका को रोकेगा। अतः वे एक योजना बनाते हैं और जेसिका एक नौकर के कपड़े पहनकर घर से भाग जाती है। उस समय उसके पिता शाइलॉक बेसैनियो की विदाई पार्टी में गए होते हैं। वह घर की सारी चाबियाँ जेसिका को सौंप जाते हैं। इस प्रकार जेसिका को अपने पिता का काफी धन और गहने साथ ले जाने का अवसर मिल जाता है। फिर वे दोनों बैलमॉण्ट की यात्रा पर जाते हैं और वहाँ पोर्शिया के घर चले जाते हैं।

नाटकीय रूप से यह घटना बहुत महत्त्वपूर्ण है। यह कहानी बहुत ही संगीतमयी और विचित्र है। यह पोर्शिया और बेसैनियो के अधिक गम्भीर और शालीन प्रेम कहानी का विरोधाभास प्रदान करती है। बेलमॉण्ट पहुँचकर वे एक मुख्य नाटकीय उत्सव मनाते हैं, वे पोर्शिया के घर की देखभाल करते हैं और उनकी ओर से उस समय सारा प्रबन्ध करते हैं जब पोर्शिया एण्टोनियो के बचाव के लिए वेनिस कोर्ट में जाती है। और इससे भी अधिक यह कहानी शाइलॉक को अतिरिक्त और अत्यधिक प्रेरणा देती है कि वह अपने एण्टोनियो के विरुद्ध बॉण्ड पर और कड़वाहट दिखाए।)

Question5.
What is the ‘Ring Episode’in the play? What purpose does it serve ?
(नाटक में रिंग एपिसोड (अँगूठी की कथा) क्या है ? यह किस उद्देश्य को पूरा करती है ?
Or
What is dramatic significance of the Ring Episode ?
(रिंग एपिसोड को नाटकीय महत्त्व क्या है ?)
Or
How is the story of the rings connected with the plot of the play ? [2013, 16]
(अँगूठियों की कहानी किस प्रकार नाटक के कथानक से जुड़ी हुई है ?)
Or
Discuss the ‘Ring Episode’ in ‘The Merchant of Venice’. [2018]
(‘मर्चेट ऑफ वेनिस’ में ‘रिंग एपिसोड’ का वर्णन कीजिए।)
Answer :
Knowing about ill luck of Antonio, Portia at once asks Bassanio to hurry to help his noble friend. So first they are married and then Portia gives him gold to repay the debt twenty times over. Antonio must be saved at any cost. As Bassanio and Gratiano leave for Venice, Portia and Nerissa give them rings with instructions that they should not give the rings to anybody else under any circumstances.

In the court Portia conducts the case with great skill. She finally succeeds in defeating Shylock and saving the life of Antonio. Because of this, both Antonio and Bassanio feel deeply obliged to the young judge. They wish to make some gift to her in return for the service he has done them. First the judge refuses any offer, but after a great insistance, she asks—Bassanio for the ring he is wearing. Bassanio does not agree to give ring as he has promised his wife to keep it safe. Portia leaves Antonio and Bassanio in an unhappy mood. Then Antonio, as he was much obliged to the judge, requests Bassanio to send the ring after her. Bassanio agrees and sends the ring. Nerissa also succeeds in persuading Gratiano to give her the ring which she had given to him with an oath.

When Bassanio and his friends arrive in Belmont, Nerissa pretends to notice that Gratiano’s wedding ring is missing from his finger. So a quarrel starts and she blames Gratiano of not really loving her. Portia also comes to know that the ring given by her to Bassanio is also missing. So she also starts quarrelling. The pretended quarrel over two rings continues for sometime. Then Antonio intervenes and takes the blame on him. Then Portia returns Bassanio’s ring to him and reveals that it was she who had been dressed as a judge and it was Nerissa who had been her clerk. Thus the clerk. Thus the mystery of how the rings came into the possession of Portia and Nerissa is cleared. Thus the whole plot of the play is connected with the story of rings in some way or the other.

(एण्टोनियो के दुर्भाग्य के विषय में जानकर पोर्शिया तुरन्त बेसैनियो से जल्दी करने तथा अपने सज्जन मित्र की सहायता करने को कहती है। अत: पहले तो उनका विवाह होता है फिर पोर्शिया उसे कर्जे का बीस गुना अधिक धन चुकाने को देती है। किसी भी कीमत पर एण्टोनियो बचना चाहिए। जब बेसैनियो और ग्रेशियानो वेनिस के लिए जाते हैं तब पोर्शिया और नेरिसा उन्हें इस नसीहत के साथ अँगूठियाँ देती हैं कि वे किसी भी परिस्थिति में किसी अन्य व्यक्ति को नहीं दी जानी चाहिए।

कोर्ट में पोर्शिया बड़ी कुशलता से मुकदमे की पैरवी करती है। अन्त में वह शाइलॉक को हराने और एण्टोनियो का जीवन बचाने में सफल हो जाती है। इसी कारण एण्टोनियो और बेसैनियो दोनों उस युवती जज का बहुत आभार मानते हैं। वे उस सेवा के लिए जो उसने उनके लिए की है कुछ उपहार देना चाहते हैं। पहले तो जज उनकी इस भेंट के लिए मना कर देती है किन्तु काफी जिद करने के बाद वह बेसैनियो से वह अँगूठी माँगती है जो वह पहने हुए है। बेसैनियो वह अँगूठी देने के लिए पहले तो सहमत नहीं होता है क्योंकि उसने अपनी पत्नि से इसे सुरक्षित रखने का वायदा किया था। पोर्शिया एण्टोनियो और बेसैनियो के पास से कुछ नाराजगी की स्थिति में चली जाती है। फिर एण्टोनियो चूँकि वह जज का अत्यन्त आभार मान रहा था, बेसैनियो से प्रार्थना करता है कि वह उसके पीछे-पीछे अँगूठी भेज दे। बेसैनियो सहमत हो जाता है और अँगूठी भेज देता है। नेरिसा भी ग्रेशियानो को सहमत करने में सफल हो जाती है कि वह भी उसे वह अँगूठी दे दे जो उसने उसे सौगन्ध के साथ दी थी।

जब बेसैनियो और उसके मित्र बेलमॉण्ट पहुँचते हैं तब नेरिसा बहाना करती है कि उसने देख लिया है कि ग्रेशियानो की अँगुली से शादी की अँगूठी गायब है। अतः झगड़ा आरम्भ हो जाता है और वह ग्रेशियानो को दोष देती है कि वह वास्तव में उससे प्यार नहीं करता। पोर्शिया को भी पता लग जाता है कि उसके द्वारा बेसैनियो को दी गई अँगूठी भी गायब है। अत: वह भी झगड़ा करना आरम्भ कर देती है। दोनों अंगूठियों पर यह बनावटी झगड़ा कुछ समय तक चलता रहता हैं फिर एण्टोनियो हस्तक्षेप करता है और दोष अपने ऊपर लेती है फिर पोर्शिया बेसैनियो की अँगूठी वापस करती है और यह भेद खोलती है कि वही तो थी जिसने जज की पोशाक पहन रखी थी और नेरिसा ने उसके क्लर्क की। इस प्रकार दोनों अंगूठियाँ पोर्शिया और नेरिसा के पास कैसे आईं इसका रहस्य स्पष्ट हो गया। इस प्रकार नाटक का पूरा कथानक किसी न किसी प्रकार अंगूठियों की कहानी से जुड़ा हुआ है।)

Question 6.
What is your opinion about Portia’s argument that Shylock could not shed a drop of Antonio’s blood while cutting off a pound of his flesh ?
(पोर्शिया के इस तर्क में आपका क्या मत है कि एन्टोनियो के शरीर से एक पौंड मांस काटते समय शाइलॉक एन्टोनियो के रक्त की एक बूंद भी नहीं बहा सकता ?) [2013,14]
Or
Is Portia a powerful character? Prove it on the basis of the play ?
(क्या पोर्शिया एक शक्तिशाली पात्र है? नाटक के आधार पर सिद्ध कीजिए।) [2014]
Or
What do you think of Portia’s decision to conduct Antonio’s defence in the guise of a lawyer ? [2016, 17]
(वकील के भेष में एन्टोनियो के पक्ष में मुकदमा लड़ने के पोर्शिया के निर्णय के विषय में आप क्या सोचते हो ?)
Or
Describe Portia’s role as a lawyer. [2016, 18]
(पोर्शिया की भूमिका को वकील के रूप में वर्णन कीजिए।)
Answer :
Yes, Portia is a powerful character. Portia pleaded the case of Antonio against he court. She wanted that Antonio should be saved at any cost. She was very intelligent. The Duke was the judge in the trial. Portia was fully prepared. First of all she tried her best that Shylock should forgive Antonio. She appealed to show mercy on him. She told him the qualities of mercy and proved that mercy is a Divine quality and the man who shows mercy is remembered and worshipped like God. But Shylock did not move a little and was adamant on his demand of a pound of flesh according to the bond.

Then very skilfully and confidently Portia allowed him to make the flesh and asked Antonio to be ready. When Shylock wanted to pierce the knife into Antonio’s chest, she warned him with a condition, “According to Bond you have full right to take the flesh but without shedding even a single drop of blood otherwise all your wealth will be confiscated by the state.’

Now Shylock was helpless. He recoils and asks for mercy. He is pardoned by the Duke conditionally. Thus, I can say that it is the skill, virtue and intelligence of Portia which saved the life of Antonio and taught a lesson to Shylock.

(हाँ, पोर्शिया एक शक्तिशाली पात्र है। पोर्शिया ने कोर्ट में शाइलॉक के विरुद्ध एन्टोनियो का मुकदमा लड़ा। वह प्रत्येक दशा में एन्टोनियो को बचाना चाहता थी। वह बहुत चतुर थी। इस मुकदमे का न्यायाधीश ड्यूक था। पोर्शिया पूरी तरह से तैयार थी। पहले उसने पूरी कोशिश की कि शाइलॉक एन्टोनियो को क्षमा कर दे। उसने उससे दया की प्रार्थना की। उसने उसे दया के गुण बताए और यह सिद्ध किया कि दया ईश्वरीय गुण है और जो मनुष्य दया दिखाता है उसे भगवान के समान याद किया और पूजा जाता है। किन्तु शाइलॉक तनिक भी नहीं हिला और दस्तावेज के अनुसार एक पौंड मांस की माँग पर अड़ा रहा।

फिर बड़ी चतुराई और विश्वास के साथ पोर्शिया ने उसे मांस लेने की अनुमति दे दी और एन्टोनियो से तैयारे होने को कहा। जब शाइलॉक एन्टोनियो की छाती में अपना चाकू भौंकने वाला था, उसने एक शर्त के साथ

उसे चेतावनी दी, “दस्तावेज के अनुसार तुम्हें रक्त की एक बूंद भी बहाए बिना मांस लेने का पूरा अधिकार है अन्यथा राज्य के द्वारा तुम्हारी सारी सम्पत्ति जब्त कर ली जाएगी।” अब शाइलॉव असहाय था। वह पीछे हट जाता है और दया की माँग करता है। ड्यूक के द्वारा सशर्त उसे माफ कर दिया जाता है। इस प्रकार मैं कह सकता हूँ कि यह पोर्शिया की ही शक्ति, चतुराई, योग्यता और सूझबूझ है जिसने एन्टोनियो का जीवन बचा लिया और शाइलॉक को एक सबक सिखा दिया।)

Question 7.
Describe and comment on the Trial scene of ‘The Merchant of Venice’. [201417, 18]
(Merchant of Venice के ट्रायल सीन (मुकदमे का दृश्य) का वर्णन करो और उसकी विवेचना करो।)
Or
Bring out the dramatic significance of the Trial scene of ‘The Merchant of Venice’.
(Merchant of Venice के ट्रायल सीन के नाटकीय महत्त्व को समझाइए।)
Or
Describe how Portia saved Antonio’s life. [2012, 17, 18]
(पोर्शिया ने एण्टोनियो के प्राणों की रक्षा कैसे की? वर्णन करो।)
Or
Comment on the procedure of Antonio’s trial. [2015, 18]
(एण्टोनियो के ट्रायल सीन की प्रक्रिया की विवेचना कीजिए।)
Answer :
Summary of the Scene : The Trial-scene is one of the most important scenes of the play. The background of the scene is bond story in which Antonio authorised Shylock pound of flesh from his body if he fails to pay the money with in three months. The time has expired and Shylock is determined to take revenge from Antonio on the basis of bond. The scene opens in the court of Venice. Duke’s appeal for Mercy and offer of six thousand ducats by Bassanio could not move Shylock. Then Portia, disguised as a male lawyer enters the court and is permitted to plead the case. Her appeal for mercy and other pleas also proved in effective. Then in the end Portia allows Shylock to take a pound of flesh from Antonio’s body without shedding a drop of blood and exactly one pound flesh neither less nor more otherwise all his wealth will be confiscated by the state. At once Shylock recoils and asks for mercy. Antonio suggests to pardon Shylock provided that he turns a christian and if his wealth is not used in usury and is given to Lorenzo and Jessica. Heart broken Shylock accepts these conditions and goes home.

The scene has great dramatic significance. It is the climax and conclusion of the Bond story, it develops with continuous interest and keeps the audience and readers breathless. Moreover there is an encounter of two great characters—Shylock, a cunning Jew and Portia, a great hero of law. Thus Portia saved Antonio’s life.

(दृश्य का सारांश – नाटक के सभी दृश्यों में ट्रायल सीन सबसे प्रमुख है। दृश्य की पृष्ठभूमि में बॉण्ड स्टोरी है जिसमें एण्टोनियो ने शाइलॉक को यह अधिकार दे दिया कि वह उसके शरीर से एक पौंड मांस ले सकता है यदि वह उसका धन तीन महीने के अन्दर वापस करने में असफल हो जाए। समय समाप्त हो गया और शाइलॉक ने बॉण्ड के आधार पर एण्टोनियो से बदला लेने का निश्चय कर लिया है। दृश्य वेनिस के। कोर्ट में खुलता है। ड्यूक की दया की प्रार्थना और बेसैनियो द्वारा 6000 ड्यूकेट्स की पेशकश शाइलॉक को प्रभावित नहीं कर सकी। फिर पोर्शिया पुरुष वकील का भेष बदलकर कोर्ट में प्रवेश करती है और उसे मुकदमे की पैरवी करने की स्वीकृति मिल जाती है। उसकी दया की प्रार्थना और अन्य तर्क भी प्रभावहीन सिद्ध हुए। फिर अन्त में पोर्शिया शाइलॉक को स्वीकृति दे देती है कि वह एण्टोनियो के शरीर से एक पौंड मांस ले ले किन्तु रक्त की एक बूंद भी बहाए बिना और सही एक पौंड मांस न कम न ज्यादा अन्यथा उसकी सारी सम्पत्ति को राज्य के द्वारा जब्त कर लिया जाएगा। तुरन्त शाइलॉक पलट जाता है और दया की याचना करता है। एण्टोनियो शाइलॉक को इस शर्त पर क्षमा करने का सुझाव देता है कि वह ईसाई बन जाए और उसकी सारी सम्पत्ति सूदखोरी में प्रयोग न करके उसे लारेंजो और जेसिका को दे दिया जाए। अत्यन्त दु:खी हृदय के साथ शाइलॉक इन शर्तों को स्वीकार कर लेता है और घर चला जाता है।

इस दृश्य में नाटकीय महत्त्व बहुत है। यह बॉण्ड स्टोरी का निष्कर्ष और चरम सीमा है। यह सतत रुचि के साथ आगे बढ़ता है और दर्शकों तथा पाठकों को लगाए रखता है। इसके अतिरिक्त दो बड़े पात्रों में मुठभेड़ होती है-एक शाइलॉक में जो धर्त यहूदी है और दूसरा पोर्शिया में जो कानून की महान् नायिका है। इस प्रकार पोर्शिया ने एण्टोनियो के प्राणों की रक्षा की।)

Question 8.
Give the substance of Portia’s speech on ‘Mercy’. [2013, 18]
(दया पर पोर्शिया के भाषण का सारांश दीजिए।)।
Answer :
Portia is the heroine in the Merchant of Venice which is one of the best plays of Shakespear. She is the most intellectual character in the play. In the trial scene Shylock is adamant to take one pound flesh from the body of Antonio according to the bond signed by Antonio. Portia is pleading his case. She tries to calm down Shylock and requests him to show mercy on Antonio. She also tells him the characteristics of mercy. Her views on mercy are given below in short. She says that mercy is the noble virtue of human heart. It naturally comes in the heart of a man like gentle rain. Mercy gives pleasure to the giver of mercy as well as to the receiver. It is a quality of God Himself. Then she compares mercy with the power of a king. She says that it is greater than the crown of a king. The king is forgotten after his death but a merciful man is remembered and honoured even after his death. Thus Portia tried to prove that mercy is Divine and the person who shows mercy becomes like God. She requested Shylock to forgive the debt of Antonio and be merciful towards him because mercy is the soul of justice. But Shylock did not move.

(पोर्शिया मर्चेन्ट ऑफ वेनिस की नायिका है जो शेक्सपियर के सबसे अच्छे नाटकों में से एक है। वह नाटक में एक अत्यन्त बुद्धिमान पात्र है। ट्रायल सीन में शाइलॉक एन्टोनियो के द्वारा हस्ताक्षरित दस्तावेज के अनुसार एन्टोनियो के शरीर से एक पौंड मांस लेने की माँग पर अडिग है। पोर्शिया मुकदमे की पैरवी कर रही है। वह शाइलॉक को शान्त करने की कोशिश करती है और उससे एन्टोनियो पर दया दिखाने की प्रार्थना करती है। वह उसे दया के गुणों के विषय में भी बताती है। दया पर उसके विचार संक्षेप में नीचे दिए गए हैं। वह कहती है कि दया मानव हृदय का सर्वोत्तम गुण है। यह धीमी बारिश के समान मनुष्य के हृदय में स्वाभाविक रूप से आता है। दया देने वाले को भी और दया लेने वाले को भी अर्थात् दोनों को आनन्द देती है। यह स्वयं भगवान का गुण है। फिर वह दया की तुलना राजा की शक्ति से करती है। वह कहती है कि यह राजा की शक्ति से भी महान होती है। राजा को उसकी मृत्यु के बाद भुला दिया जाता है किन्तु एक दयावान व्यक्ति को उसकी मृत्यु के बाद भी याद किया जाता है और उसका सम्मान किया जाता है। इस प्रकार पोर्शिया यह सिद्ध करने की कोशिश करती है कि दया ईश्वरीय है और वह व्यक्ति जो दया दिखाता है वह भगवान के समान हो जाता है। वह शाइलॉक से एन्टोनियो के कर्ज को माफ कर देने की और उसके प्रति दयावान होने की प्रार्थना करती है क्योंकि दया न्याय की आत्मा है, किन्तु शाइलॉक टस से मस नहीं होता।)

Question9.
Comment on Antonio’s treatment of Shylock before the execution of .. bond and at the end of the trial. [2014]
(बॉण्ड के क्रियान्वित होने से पहले और मुकदमे के अन्त में शाइलॉक के एण्टोनियो से व्यवहार पर विवेचना कीजिए।)
Or
How does the trial of Antonio become the trial of Shylock ? [2016, 17]
(एण्टोनियो का मुकदमा शाइलॉक का मुकदमा कैसे हो गया ?)
Answer :
Shylock is a notorious moneylender and a great enemy of Antonio due to racial, religious and professional causes. He was always in search of a chance of taking revenge from Antonio. Shylock gets a moment of triumph when Bassanio comes to borrow money from him for three months on the credit of Antonio. Hence as per condition put by Shylock, Antonio signs a bond authorising Shylock to take one pound flesh from his body if he fails to repay the debt in three months.

By chance Antonio’s ships do not return and the time of bond has expired. Thus Shylock gets a chance to take revenge.

In the court Shylock is adamant on the condition of the bond and nothing could soften his heart. Antonio also has no hope and boldly prepares to meet his doom. But at the same time Portia ía disguised advocate) pleads the case on behalf of Antonio. All her appeals and even the appeal of mercy failed.

Then Portia allows Shylock to take one pound of flesh from Antonio’s body but without shedding even a single drop of blood as per bond. At this Shylock is perplexed. So he leaves his adamancy and goes on to be softer and softer. When the advocate grants him nothing against the bond, he bows down and he himself appeals for mercy.

In the light of above description we can say that in reality it was the trial of Antonio. But in the end it proved to be the trial of Shylock. Thus Shylock who was most cruel and adamant person before the execution of bond, has become very forgiving and soft man ready to do anything he is asked.

(शाइलॉक शैतान महाजन और जातीय, धार्मिक तथा व्यापारिक कारणों से एण्टोनियो को शत्रु है। वह सदा एण्टोनियो से बदला लेने की तलाश में रहता था। शाइलॉक को विजय को क्षण प्राप्त हो जाता है जब बेसैनियो तीन महीने के लिए एण्टोनियो की जमानत पर धन उधार लेने के लिए आता है। अत: शाइलॉक के द्वारा रखी गई शर्त के अनुसार एण्टोनियो एक बॉण्ड पर हस्ताक्षर कर देता है और यदि वह तीन महीने में धन चुकाने में असफल होता है तब शाइलॉक को यह अधिकार दे देता है कि वह उसके शरीर से एक पौंड मांस ले ले। संयोग से एण्टोनियो के जहाज लौटकर नहीं आते हैं और बॉण्ड की अवधि भी समाप्त हो जाती है। इस प्रकार शाइलॉक को बदला लेने का मौका मिल जाता है।

अदालत में शाइलॉक बॉण्ड की शर्त पर कायम रहता है और कोई भी बात उसके हृदय को पिघला नहीं सकी। एण्टोनियो को भी कोई आशा नहीं है और वह दृढ़ता से अपनी मौत का सामना करने को तैयार हो जाता है, किन्तु इसी समय पोर्शिया (भेष बदले हुए एडवोकेट) एण्टोनियो की ओर से मुकदमे की पैरवी करती है। उसकी सभी प्रार्थनाएँ यहाँ तक कि दया की विनती भी बेकार जाती है।

फिर पोर्शिया शाइलॉक को एण्टोनियो के शरीर से बॉण्ड के अनुसार रक्त की एक बूंद भी बहाए बिना एक पौंड मांस लेने के लिए कह देती है, इस पर शाइलॉक परेशान हो जाता है, इसलिए वह अपना अड़ियलपन छोड़ देता है और अधिक विनम्र होने लगता है। जब वकील उसे बॉण्ड के विरुद्ध कुछ भी देने को तैयार नहीं होता तब वह झुक जाता है और वह स्वयं दया की प्रार्थना करता है।

इस प्रकार शाइलॉक जो बॉण्ड से पूर्व अत्यन्त अत्याचारी और अड़ियल व्यक्ति था, अत्यन्त क्षमाशील और विनम्र व्यक्ति हो जाता है जो प्रत्येक वह बात करने को तैयार हो जाता है जो उससे कही जाए। उपर्युक्त वर्णन के प्रकाश में हम कह सकते हैं कि वास्तव में आरम्भ में यह एण्टोनियो का मुकदमा था, किन्तु अन्त में यह शाइलॉक का मुकदमा सिद्ध हुआ।)

Question 10.
Why is the play called ‘The Merchant of Venice’? Is it a suitable title of the play in your opinion ?
(नाटक को Merchant of Venice क्यों कहा गया है ? क्या आपके मत में यह उपयुक्त शीर्षक है?)
Or
Was it a business rivalry between the two communities-Christian and Jew-that brought about the humiliation of Shylock? Comment. [2015]
(क्या यह दो समुदायों-ईसाई एवं यहूदी–के बीच व्यापारिक प्रतिस्पर्धा थी जिसमें शाइलॉक को अपमानित किया गया? तर्क दीजिए।)
Ans
Regarding the title of the play there are different controversies. The first controversy is who is the real merchant-Shylock or Antonio. Some critics say that Shylock is the real merchant. He is the most dominant figure in the play and the chief source of interest in the play. So Shakespeare must have had Shylock in his mind. The critics of Shylock’s favour say that Antonio is a passive, colourless personality, who remains mostly in the background.

When we read the drama carefully we come to know that Antonio is the real merchant of Venice. He is referred to again and again as the ‘Royal merchant and good Antonio’, and in the trial scene—Portia pointedly asks, ‘Which is the merchant and which is the Jew’. In the very opening scene also we are told of Antonio’s wealth, of his rich ventures, etc. tossing on the ocean. He is presented as a rich merchant, with a world wide trade. Shylock, on the other hand, is never referred to as a merchant but is sketched as a usurer, a cruel money lender. Thus Antonio is the real merchant of Venice and play has been rightly named after him.

More over Antonio is the character, whose story and fortunes form the very basis of the plot of drama. Antonio may not be dominant and assertive like Shylock but he is noble in friendship, and so much generous that he risks his life for the sake of his friend. Thus when we consider all things, Antonio is really the Merchant of Venice and the play has been rightly named after him.

(नाटक के शीर्षक के सम्बन्ध में बहुत-से विवाद हैं। पहला विवाद यह है कि वास्तविक व्यापारी कौन है—शाइलॉक या एण्टोनियो। कुछ आलोचक कहते हैं कि शाइलॉक वास्तविक व्यापारी है। वह नाटक में अत्यधिक प्रभावशाली व्यक्ति है और आकर्षण का मुख्य स्रोत है। इसीलिए शेक्सपियर ने उसे अपने मस्तिष्क में रखा होगा। शाइलॉक के पक्ष वाले आलोचक कहते हैं कि एण्टोनियो निष्क्रिय तथा प्रभावहीन व्यक्तित्व है और वह अधिकतर नाटक की पृष्ठभूमि में रहता है।

जब हम नाटक को सावधानीपूर्वक पढ़ते हैं तब हमें पता लगता है कि एण्टोनियो वेनिस का असली व्यापारी है। ‘शाही व्यापारी और अच्छा एण्टोनियो’ शब्दों से बार-बार उसका सन्दर्भ आता है तथा ट्रायल दृश्य में पोर्शिया भी बारीकी से पूछती है व्यापारी कौन है और यहूदी कौन है ?’ प्रथम दृश्य में भी हमें एण्टोनियो की सम्पत्ति, धन-दौलत आदि समुद्र के ऊपर जहाजों में उछल-कूद करते हैं। उसे एक धनी व्यापारी के रूप में प्रस्तुत किया गया है जिसका व्यापार पूरे संसार में फैला हुआ है। दूसरी ओर शाइलॉक को कभी भी व्यापारी के रूप में प्रस्तुत नहीं किया गया है, बल्कि उसे तो एक सूदखोर तथा एक अत्याचारी महाजन के रूप में प्रस्तुत किया गया है।

इसके अतिरिक्त एण्टोनियो एक ऐसा पात्र है जिसकी कहानी और धन-दौलत नाटक के कथानक का आधार बनते हैं। एण्टोनियो शाइलॉक के समान प्रभावशाली और अड़ियल भले ही न हो किन्तु वह मित्रता में श्रेष्ठ। और इतना उदार है कि मित्रता के लिए वह अपने जीवन को भी खतरे में डाल देता है। इस प्रकार जब हम सभी बातों को ध्यानपूर्वक विचार करते हैं, तब एण्टोनियो ही वेनिस का वास्तविक व्यापारी है और नाटक का शीर्षक उसके नाम पर ठीक ही रखा गया है।)

Question 11.
Who is the hero of “The Merchant of Venice’ ? Explain. [2011]
(‘मर्चेन्ट ऑफ वेनिस नामक नाटक का नायक कौन है ?)
Answer :
Generally speaking a hero is the principal main figure of noble qualities especially one whose career is the thread of the story. He should have a number of virtues of head and heart. He should be a person of high rank, respected and valued in society. There are only two main characters in the play ‘The Merchant of Venice’ who may be claimant of the hero-Shylock and Antonio.

Now let us compare the characters of both of them. Shylock is the forceful and dynamic personality. In the trial scene he has shown his single minded devotion, will and energy with which he stands out for the rights of his people evoke our admiration. On the other hand Antonio is a weak and passive character. He is indifferent to life and to this world. He is a weak character. It was fair Portia who saved his life.

But morally Antonio is far superior to Shylock. He is self sacrificing, generous and noble hearted. He is a sincere and affectionate friend, and risks even his life to help his friend in the hour of need dramatically also Antonio is much more important than Shylock. All the other characters of the play are grouped round him. The play begins and ends with him. Lastly Antonio is the merchant in reality having a vast field of business on sea while Shylock is only a money lender. So whichever angle we consider Shylock cannot be regarded as the hero of the play. This honour goes only to Antonio.

(सामान्य रूप से नायक एक मुख्य व्यक्ति होता है जिसमें विशिष्ट गुण हों मुख्यत: वह व्यक्ति जिसका जीवन चरित्र कहानी का सूत्रधार हो, उसमें मन और मस्तिष्क के अनेकों गुण हों। ऊँचे पद का व्यक्ति हो, समाज में सम्मानित और प्रभावशाली हो, मर्चेन्ट ऑफ वेनिस में केवल दो ही ऐसे पात्र हैं जो नायक के दावेदार हैं—शाइलॉक और एण्टोनियो।

अब हमें इन दोनों के चरित्र की तुलना करनी चाहिए। शाइलॉक शक्तिशाली और क्रियाशील व्यक्तित्व का व्यक्ति है। ट्रायल सीन में उसने अपना दृढ़ एकांकी प्रेम, दृढ़ इच्छा और ऊर्जा जिसके सहारे वह अपनी जनता के अधिकारों के लिए दृढ़ता से खड़ा रहता है, यह सभी गुण हमारे भीतर उसकी प्रशंसा को जाग्रत करते हैं। दूसरी ओर एण्टोनियो एक कमजोर और निष्क्रिय पात्र है। वह जीवन और इस संसार के प्रति उदासीन है। वह कमजोर पात्र है। सुन्दर और न्यायप्रिय पोर्शिया ने ही उसकी जान बचाई।

किन्तु नैतिक रूप से एण्टोनियो शाइलॉक से कहीं महान है। वह आत्म-बलिदानी, उदार और सज्जन हृदय व्यक्ति है। वह सच्चा और प्रिय मित्र है और आवश्यकता के समय अपने मित्र की सहायता करने के लिए अपने जीवन को भी खतरे में डाल देता है। नाटकीय ढंग से भी एण्टोनियो शाइलॉक की अपेक्षा अधिक आवश्यक है। नाटक के अन्य सभी पात्र उसी के चारों ओर इकट्टे रहते हैं। नाटक उसी से आरम्भ होता है। और उसी के साथ अन्त होतम है। अन्त में एण्टोनियो जो वास्तव में एक व्यापारी है जिसके व्यापार का समुद्र पर विशाल क्षेत्र है जबकि शाइलॉक केवल एक महाजन है। अत: जिस दृष्टिकोण से भी देखें या सोचे शाइलॉक को नाटक का नायक नहीं माना जा सकता। यह सम्मान तो केवल एण्टोनियो को ही मिलता है।)

Question 12.
Give a character sketch of Shylock. Or Role of Shylock. [2012, 14, 17, 18]
(शाइलॉक का चरित्र-चित्रण कीजिए।)
Or
“If not the hero of the play, Shylock, undoubtedly, is the most dominant character in the play ‘The Merchant of Venice’.
(शाइलॉक यदि नाटक का नायक नहीं है फिर भी नि:सन्देह रूप से वह Merchant of Venice नामक
नाटक का एक बलशाली पात्र है।)
Or
How does Shakespeare portray Shylock’s character? [2012, 15, 16]
(शेक्सपियर शाइलॉक के चरित्र का चित्रण कैसे करता है?)
Or
Is Shylock a weak or a strong character ? Discuss. [2013]
(शाइलॉक क्या कमजोर पात्र है या शक्तिशाली ? विवेचना कीजिए।)
Or
What impression do you get about Shylock’s personality in the play “The Merchant of Venice’? [2014]
(मर्चेण्ट ऑफ वेनिस’ नामक नाटक से शाइलॉक के व्यक्तित्व के विषय में आपके ऊपर क्या प्रभाव पड़ता है?)
Or
Discuss the three conflicting motives and passion of Shylock? [2015]
(शाइलॉक के परस्पर संघर्षरत तीन प्रेरकों व आवेगों की विवेचना कीजिए।)
Or
Does the character of Shylock reflect hatred? Give reasons to support your answer. [2018]
(क्या शाइलॉक का चरित्र घृणा दर्शाता है? अपने उत्तर की पुष्टि के लिए कारण बताइए।)
Answer :
(1) A Grand Figure : ‘Old Shylock’ is a grand figure in The Merchant of Venice. He is imagined to be on the wrong side of forty with unkempt hair and dressed in a long Jewish garberdine.

(2) His Miserliness :
His miserliness is peculiarly Jewish. He loves only riches. So he grudges even his servant, Launcelot’s food, sleeping by day and the cost of his clothes. His concentrated love on riches makes him a bad father, and causes Jessica to feel that his house is ‘hell for her.

(3) His Usury : His usury is no less Jewish. It is based on the authority of his holy scriptures : the interest on money is a well won thrift, as it is based on a bargain. So for him bargain was a way to thrive.

(4) His Cruelty : Shylock’s cruelty in business dealings is also Jewish through and through. Once a bargain is made with the Jew, the Jew must get his due. Due to his cruelty he did not care for the feelings of his customers and even of his daughter. He is very sensitive to injustice. When his sensitiveness strikes his miserliness, he goes almost mad.

So to conclude we can say that if not the hero of the play, Shylock, undoubtedly is the most dominant and strong character in the play ‘The Merchant of Venice’.

((1) एक शानदार व्यक्ति – ‘बूढ़ा शाइलॉक’ Merchant of Venice में एक शानदार व्यक्ति है। उसकी आयु का चालीस वर्ष से अधिक होना गलत माना जाता है। उसके बाल बिखरे हुए होते हैं और एक लम्बे यहूदियों के लबादे को पहने होता है।

(2) उसकी कंजूसी – उसकी कंजूसी विशेष रूप से यहूदियों वाली है। वह केवल धन-दौलत से प्यार करता है। अतः वह अपने नौकर लाँसलॉट के भोजन से, उसके दिन में सोने से और उसके कपड़ों की कीमत से भी वह खीजता है। उसका धन दौलत के प्रति केन्द्रीकृत प्रेम उसे एक बुरा पिता बना देता है और जेसिका को यह एहसास करा देता है कि उसका घर जेसिका के लिए नरक है।

(3) उसकी सूदखोरी – उसकी सूदखोरी भी यहूदी धर्म की छाप से कम नहीं है। उसके धार्मिक ग्रन्थों की शक्ति पर आधारित है। धन के प्रति रुचि अच्छी प्रकार प्राप्त की हुई मितव्ययता है क्योंकि यह सौदेबाजी पर आधारित है। इसलिए शाइलॉक के लिए सौदेबाजी सम्पन्नता का एक तरीका है।

(4) उसका अत्याचार – व्यापारिक लेन-देन में शाइलॉक का अत्याचार पूर्ण रूप से यहूदी धर्म से सम्बन्धित है। एक बार यहूदी से मोलभाव हो जाए तब यहूदी अपना हक अवश्य ले लेगा। अपने अत्याचार के कारण ही न तो वह अपने ग्राहकों की भावनाओं का ध्यान करता है और न ही अपनी बेटी का। अन्याय के प्रति वह बहुत ही संवेदनशील हैं जब उसकी संवेदनशीलता उसकी कंजूसी से मिल जाती है तब वह लगभग पागल हो जाता है। अतः निष्कर्ष में कह सकते हैं कि यदि शाइलॉक नाटक का नायक नहीं है तब नि:सन्देह रूप से मर्चेन्ट ऑफ वेनिस नामक नाटक का शक्तिशाली पात्र है।)

Question13.
Why did Shylockhate Antonio? Give reasons. [2012, 13, 14, 15, 16, 17]
(शाइलॉक, एण्टोनियो से नफरत (घृणा) क्यों करता था? कारण दीजिए।)
Answer :
Introduction : The hatred of Shylock is the main and base theme of the play. But he has reasons for his deep-rooted grudge against Antonio… His Hatred as a Jew: Antonio was a Christian and Shylock was a Jew. Their religions were responsible for their mutual hatred. Shylock admits that he hates Antonio because he is a Christian. Even Antonio hates Jews and Shylock was very well aware of Antonio’s feelings. Shylock says :

“He hates our sacred nation.”

Trading Competition : Antonio was a kind-hearted trader. He was indulged in reducing the rates of interest by lending out money without interest. He was only.. helping needy but it pinched Shylock, the money-lender. He used to charge high interest rates for income. But Antonio caused him great loss. So that Shylock hates Antonio.

Antonio’s Criticism : Antonio has criticised Shylock for his charging high rates of interest, and thus, making huge profit. He scolds Shylock in public. This was all insulting for Shylock.

Thus Shylock has powerful reasons for hating Antonio. His hatred is the main reason for his feeling of revenge.;

(परिचय – शाइलॉक की घृणा इस नाटक की मुख्य एवं आधारीय पृष्ठभूमि है। परन्तु एण्टोनियो के प्रति घृणा रखने के उसके कुछ कारण थे।
एक ज्यू के रूप में उसकी घृणा – एण्टोनियो एक क्रिश्चन था जबकि शाइलॉक एक ज्यू था। उन दोनों के धर्म उनकी घृणा के प्रमुख कारण थे। शाइलॉक ने यह स्वीकार भी किया है कि वह क्रिश्चन होने के कारण एण्टोनियो से घृणा करता है। यद्यपि एण्टोनियो भी ज्यूसों से घृणा करता था तथा शाइलॉक उसकी इस बात को जानता था। शाइलॉक ने कहा था कि

वह हमारे धार्मिक देश से घृणा करता है।”

व्यापारिक प्रतिस्पर्धा – एण्टोनियो एक दयालु प्रवृत्ति का व्यापारी था। वह जरूरतमंद लोगों को बिना ब्याज या बहुत ही कम ब्याज पर धन उधार देता था। वह केवल जरूरतमंदों की सहायता करता था। उसकी यही बात शाइलॉक को बुरी लगती थी। क्योंकि अधिक लाभ हेतु वह उच्च ब्याज पर धन उधार देता था परन्तु एण्टोनियो के कारण उसे भारी नुकसान उठाना पड़ रहा था। अत: इस कारण भी शाइलॉक, एण्टोनियो से घृणा करता था।

एण्टोनियो की टोका – टाकी-एण्टोनियो शाइलॉक को टोकता रहता था कि वह उच्च ब्याज पर धन उधार देकर बहुत अधिक लाभ कमा रहा है। उसने लोगों के सामने उसे बेइज्जत भी किया। इससे शाइलॉक को बहुत अपमान हुआ।

इस प्रकार एण्टोनियो के प्रति शाइलॉक द्वारा घृणा किये जाने के अनेक कारण थे। उसकी घृणा ही उसके बदले की भावना को मुख्य कारण थी।)

Question 14.
Give a character Sketch of Antonio. [2013, 17, 18]
(एण्टोनियो का चरित्र-चित्रण कीजए।)
Or
Antonio is the pigmy of a Shakespearean hero’. Discuss the remark with reference to Antonio’s character.
(एण्टोनियो शेक्सपियर के हीरो का बौना है। इस कथन की विवेचना एण्टोनियो के चरित्र के सम्बन्ध में कीजिए।)
Or
Draw the character sketch of Antonio on the basis of the play “The Merchant of Venice’. [2017]
(‘मर्चेण्ट ऑफ वेनिस’ नाटक के आधार पर एण्टोनियो का चरित्र-चित्रण कीजिए।)
Or
Who do you think is the hero of the play?… [2017]
(आप किसे नाटक का नायक समझते हैं?)
Or
In what respect does Antonio show a weakness in his character? [2018]
(किस सम्बन्ध में एण्टोनियो अपने चरित्र में कमजोरी दिखाता है?)
Answer :
Antonio is the hero of the play “The Merchant of Venice’. Some of the striking features of his character are given below :

(1) His Melancholy :
In the opening scene of the play he tells his friends that he is sad for some unknown reasons. This depression of spirits continues with him through out the whole play..

(2) His Sincere Love for Bassanio :
His love for Bassanio is so much sincere that he signs a fatal bond for his friend’s happiness. He does not inform Bassanio until the bond expires lest he should mar his happiness in Belmont. And when Bassanio goes to Belmont he bursts into tears. All this reveals his deep love for Bassanio.

(3) His Kindness : He is also very kind. It is admitted even by Shylock. But it must be admitted that he is kind only to ChristiAnswer :

(4) His Intolerance :
Among his weaknesses the first weakness is his intolerance of Judaism. Shylock says that Antonio hates his sacred nation. It is also evident from the mercy he shows to Shylock in the Trial scene.

(5) His Indiscretion : He is also indiscreet. He finds faults with Shylock for his usuary, abuses him and even spits at him.

(6) His Weak Heartedness : It is evident when, at the expiry of bond, he goes to Shylock and begs him of mercy. It rather smacks of ignobility. A hero should not have come down to such a low level.

Thus the above points show that the critics rightly call him a ‘Passive Hero’. or ‘A pigmy of a Shakespearean Hero’.

(र. नियो मर्चेन्ट ऑफ वेनिस नामक नाटक का नायक हैं उसके चरित्र के कुछ प्रभावकारी गुण नीचे दिए गए हैं
(1) उसकी उदासीनता – नाटक के प्रथम दृश्य में वह अपने मित्रों को बताता है कि वह कुछ अज्ञात कारणों से दु:खी है। उसकी भावनाओं की यह उदासीनता पूरे नाटक में रहती है।

(2) बेसैनियो के प्रति उसका सच्चा प्रेम – 
बेसैनियो के प्रति उसका प्रेम इतना सच्चा है कि वह अपने मित्र
की प्रसन्नता के लिए प्राण घातक बॉण्ड पर भी हस्ताक्षर कर देता है। वह बेसैनियो को उस समय तक सूचित नहीं करता जब तक बॉण्ड की समय सीमा समाप्त नहीं हो जाती। ये कहीं ऐसा न हो कि बेलमॉण्ट में उसके
आनन्द में कोई विघ्न पड़ जाए। जब बेसैनियो बेलमॉण्ट जाता है, तब वह फूट-फूटकर रोता है। ये सभी बातें बेसैनियो के प्रति उसके गहरे प्रेम को प्रदर्शित करती हैं।

(3) उसकी दयालुता – वह बहुत दयालु भी है। शाइलॉक भी इस बात को स्वीकार करता है। किन्तु यह स्वीकार करना पड़ेगा कि वह केवल ईसाइयों के प्रति दयालु है।

(4) उसकी असहनशीलता – उसकी कमजोरियों में पहली कमजोरी यही है कि वह यहूदियों को सहन नहीं कर सकता। शाइलॉक कहता है कि एण्टोनियो अपने पवित्र राष्ट्र से घृणा करता है। यह इस बात से भी स्पष्ट है कि ट्रायल सीन में वह शाइलॉक के प्रति क्या दया दिखाता है।

(5) उसका अविवेक – 
वह अविवेकी भी है। वह शाइलॉक में उसकी सूदखोरी के लिए दोष ढूंढता है, उसे गालियाँ देता है और उसके ऊपर थूकता भी है।

(6) उसको कमजोर हृदय वाला होना – 
यह इस बात से स्पष्ट है कि जब उसके बॉण्ड की समय- सीमा समाप्त हो जाती है तब वह शाइलॉक के पास जाता है और दया की प्रार्थना करता है। यह नीचता की गिरावट है। एक नायक को इतने नीचे स्तर तक नहीं गिरना चाहिए। इस प्रकार उपर्युक्त बिन्दु बताते हैं कि आलोचक एण्टोनियो को ‘एक निष्क्रिय नायक’ या ‘शेक्सपियर के नायकों में बौना’ नाम से संही सम्बोधित करते हैं।)

Question 15.
Compare and contrast the character of Antonio with that of Shylock.
(एण्टोनियो के चरित्र की तुलना शांइलॉक के चरित्र से कीजिए।)
Answer :
The character of Antonio and Shylock may be compared on two grounds :

  1. Their Personalities
  2. Dramatic Action

(1) Their Personalities : Antonio is a christian. His character consists of his melancholy, his deep love for Bassanio, his kindness to the christians only, his intolerance of jews, his indiscreation evident from his insulting Shylock and signing the fatal bond and his weak heartedness as evident from begging mercy of Shylock.. The outstanding qualities of Shylock’s character are his Judaism and his sensitiveness to injustice. His Judaism implies his miserliness or intense love of riches, his usury, his cruelty in business dealings and his cunningness. His sensitiveness to injustice sparks in him a maddening grief as on Jessica’s elopment.

(2) In Dramatic Action : In the Merchant of Venice Antonio is a weak and passive character. He says he is sad, he signs the bond, he weeps at the departure of Bassanio, he begs Shylock for mercy, etc. On the contrary his opponent Shylock is a depository of energy and activity in the action of the play. He is firm in his all decisions and actions. He stands firm in the court also. “There is no power in the tongue of man to alter me, I stay here on my Bond.” Thus we can easily say that Antonio though the hero of the play, dwindles into utter insignificance when he is compared to his mighty opponent Shylock.

(एण्टोनियो और शाइलॉक की तुलना दो आधारों पर की जा सकती है

  1. उनका व्यक्तित्व,
  2. नाटकीय क्रियाकलाप।

(1) उनको व्यक्तित्व – एण्टोनियो एक ईसाई है। उसके चरित्र में निम्नलिखित बातें सम्मिलित हैं—उसकी उदासी, बेसैनियो से उसका अत्यधिक प्यारे, केवल ईसाइयों के प्रति उसकी दयालुता, यहूदियों के प्रति उसकी असहनशीलता, उसका अविवेक जो उसके द्वारा शाइलॉक को अपमानित किए जाने से स्पष्ट है, प्राणघातक बॉण्ड पर हस्ताक्षर करना और उसका कमजोर हृदय वाला होना जो उसके द्वारा शाइलॉक से दया की भीख माँगने से स्पष्ट है। शाइलॉक के चरित्र के प्रमुख बिन्दु हैं-उसका यहूदी धर्म तथा अन्याय के प्रति संवेदनशील होना। उसका यहूदी होना बताता है उसकी कंजूसी को, या धन दौलत से अत्यधिक प्रेम को, उसकी सूदखोरी को, व्यापारिक लेन-देन में उसके अत्याचार को और उसकी चालाकी को, अन्याय के प्रति उसकी संवेदनशीलता का पता लगता है उसकी पुत्री जेसिका के भाग जाने पर वह दु:ख से पागल हो जाता है।

(2) नाटकीय क्रियाकलाप – मर्चेन्ट ऑफ वेनिस में एण्टोनियो कमजोर और निष्क्रिय पात्र है। वह कहता है कि वह दु:खी है, वह बॉण्ड पर हस्ताक्षर कर देता है, बेसैनियो के जाने पर वह रोता है, वह शाइलॉक से दया की प्रार्थना करता है, इत्यादि। इसके विरुद्ध उसका प्रतिद्वन्द्वी शाइलॉक नाटक में क्रिया तथा शक्ति का खजाना है। अपने सभी निर्णयों तथा कार्यों में वह दृढ़ रहता है। वह कोर्ट में दृढ़ रहता है। वह कहता है, मनुष्य की जुबान में इतनी शक्ति नहीं है जो मुझे बदल दे, मैं अपने बॉण्ड पर दृढ़ हूँ।” इस प्रकार हम आसानी से कह सकते हैं कि एण्टोनियो यद्यपि नाटक का नायक है फिर भी वह उस समय महत्त्वहीन और सूखे हुए के समान हो जाता है जब उसकी तुलना शक्तिशाली विरोधी शाइलॉक से की जाती है।)

Question 16.
Draw a character sketch of Bassanio. [2018]
(बेसैनियो का चरित्र-चित्रण कीजिए।)
Or
“Bassanio is not a dominant character, yet he is quite impressive.” Exemplify.
(बेसैनियो एक पात्र नहीं है, फिर भी वह पूर्ण प्रभावपूर्ण है। उदाहरण दीजिए।)
Or
Give a character sketch of Bassanio as portrayed in the play. The Merchant of Venice’. [2015, 16]
(“The Merchant of Venice’ नाटक के आधार पर बेसैनियो का चरित्र-चित्रण कीजिए।)
Answer :
Bassanio’s character reveals the following qualities :
(1) His Extravagance and Sense of Honour : Bassanio is very extravagant. He believes in pomp and show. It is also evident from his company of hangers on and dresses of his servants. But he has a sense of honour also. He took a loan from Antonio and wasted it. Yet he wishes to get rid of his debts honourably.

(2) Fortune Hunter :
Bassanio tells Antonio his win to wish the hand of a rich lady Portia. Although he has received mute signals of love from Portia yet he will have to depend on his fortune. He may have her hand only when he chooses the correct casket. It reveals that he is the believer of fortune.

(3) His Handsomeness and Accomplishments :
According to Nerissa and Portia he is very much handsome. He is also said to be scholar and soldier, although we do not find the traces of his soldiership in the play.

(4) His Love for Portia and Antonio :
Bassanio reveals a deep love for Portia and Antonio. It is evident from his words in the trial scene—“Portia is as dear to him as life itself. But he can sacrifice his life, his wife and all the world for Antonio.”

(5) Conclusion :
Bassanio can be regarded as a cultured man. In the whole play he never uses bad words about Shylock or his religion. Bassanio’s wastefulness and” fortune hunting may be called bad qualities but all other qualities of Bassanio are praise worthy. Thus, inspite of being not a dominant character, he is quite impressive.

(बेसैनियो का चरित्र निम्नलिखित गुणों को प्रकट करता है–
(1) उसकी फिजूलखर्ची और सम्मान की भावना – बेसैनियो बहुत फिजूलखर्ची करने वाला व्यक्ति है। वह दिखावे में विश्वास करता है। यह बात उसकी पिछलग्गुओं की संगति और उसके सेवकों की वेशभूषा से भी स्पष्ट होती है। किन्तु उसके अन्दर सम्मान की भावना भी है। उसने एण्टोनियो से धन उधार लिया और उसे नष्ट कर दिया। फिर भी वह सम्मानजनक ढंग से अपने कर्ज से छुटकारा पाना चाहता है।

(2) भाग्य का शिकारी – 
बेसैनियो एण्टोनियो को एक धनी महिला पोर्शिया से विवाह करने की अपनी इच्छा के विषय में बताता है। यद्यपि उसे पोर्शिया की ओर से प्रेम का मूल इशारा प्राप्त हो चुका है फिर भी उसे अपने भाग्य पर निर्भर रहना पड़ेगा। उसका विवाह उससे तभी होगा जब वह सही कास्केट चुन लेगा। यह बात इस बात को स्पष्ट करती है कि वह भाग्य में विश्वास करने वाला है।

(3) उसकी सुन्दरता और प्राप्तियाँ – 
नेरिसा और पोर्शिया के अनुसार वह बहुत सुन्दर है। वह विद्वान और सिपाही भी है यद्यपि उसके सिपाही होने के प्रमाण नाटक में कहीं नहीं मिलते।।

(4) पोर्शिया और एण्टोनियो से उसका प्यार – 
बेसैनियो प्रकट करता है कि वह पोर्शिया और एण्टोनियो से बहुत प्रेम करता है। ट्रायल सीन में उसके इन शब्दों से यह बात स्पष्ट भी हो जाती है, “पोर्शिया उसे इतनी ही प्रिय है जितना स्वयं उसका जीवन। किन्तु वह एण्टोनियो के लिए अपना जीवन, अपनी पत्नी और पूरे संसार को बलिदान कर सकता है।

(5) निष्कर्ष – 
बेसैनियो को एक सुसंस्कृत तथा सभ्य व्यक्ति माना जा सकता है। पूरे नाटक में वह शाइलॉक के प्रति या उसके धर्म के प्रति कोई अपशब्द प्रयोग नहीं करता। बेसैनियो की फिजूल खर्ची और भाग्य पर निर्भर होना उसके अवगुण कहे जा सकते हैं किन्तु बेसैनियो के अन्य सभी गुण प्रशंसा के योग्य हैं। इस प्रकार एक प्रबल पात्रे न होते हुए भी वह बहुत प्रभावशाली है।)

Question 17.
Sketch the character of Portia. [2011, 13, 17, 18]
(पोर्शिया का चरित्र-चित्रण कीजिए।)
Or
Give a character sketch of Portia as depicted in the play The Merchant of Venice? [2015]
(पोर्शिया का चरित्र-चित्रण कीजिए जैसा कि नाटक The MerchantofVenice में चित्रित किया गया है।)
Or
What is your opinion of Portia’s character ? [2015]
(पोर्शिया के चरित्र-चित्रण के बारे में आपकी क्या राय है ?)
Or
‘Portia is indeed a typical Shakespearean heroine.” Elucidate the remark.
(“पोर्शिया वास्तव में शेक्सपियर की विशेष प्रकार की हीरोइन है।” इस कथन की व्याख्या कीजिए।)
Or
“Portia is the most perfect of Shakespearean heroines.” Do you agree?
(“पोर्शिया शेक्सपियर की हीरोइनों में सबसे अधिक पूर्ण है। क्या आप सहमत हैं ?)
Or
“Portia is a very resourceful character of the play ‘The Merchant of Venice’.” Discuss the statement with illustrations. [2015]
(“पोर्शिया “The Merchant of Venice’ नाटक की एक बहुत चतुर चरित्र है।” कथन का उदाहरणों द्वारा वर्णन कीजिए।)
Or
Point out the prominent qualities in the character of Portia. [2018]
(पोर्शिया के चरित्र के प्रमुख गुणों का वर्णन कीजिए।)
Or
“In Portia’s personality, we find a blend of beauty and brain”. Comment. [2016, 18]
(पोर्शिया के व्यक्तित्व में हम सुन्दरता और बुद्धिमत्ता का मिश्रण पाते हैं।” विवेचना कीजिए।)
Answer :
Portia is a rich lady of Belmont. She is among the best heroines created by Shakespeare. She possesses most virtues in proper moderation. Her faults a her virtues balance each other. We find the following main points in her character:

(1) Her Beauty : Portia possesses not only physical beauty but also beauty of character. She is a goldilocks and her golden locks hang on her temples like a golden fleece. She is renowned for her physical beauty and that is why all desire for her. She possesses beauty of character too in an eminent degree. She is an ideal woman, dutiful, loving and self effacing. She obeys the will of her dead father and does not violate, even a little.

(2) Her Intelligence : Many suitors come to her and she understands their characters immediately. Her intelligence can also be seen from the quickness with which she understands that Bassanio is worried after reading Antonio’s letter. She notes the change of colour on his face and feels that he is so worried because the letter has given him bad news about his friend. Portia does not take anytime in making a plan to save Antonio.

(3) Her Strong Sense of Justice : Portia possesses a strong sense of justice. When Bassanio requests the Duke to break the Law in order to save Antonio’s life, Portia immediately objects that by doing so, the importance and value of the laws of Venice would be destroyed forever.

Her love of justice is also touched with mercy and kindness. Soon after she enters the court, she begs Shylock to have mercy on Antonio. But she fails. Then she puts such arguments and pleads the case so well that Antonio’s life is saved and Shylock equests to show mercy on him. ihus Portia’s character is made up of beauty, the finest of human virtues, great intelligence, determination, force of character, loyalty to her husband and her dead father, etc.

(पोर्शिया बेलमॉण्ट की एक धनी स्त्री है। शेक्सपियर के द्वारा रचित सभी हीरोइनों में यह सर्वोत्तम है। उसके अधिक गुण उचित संभाव में हैं। उसके दोष भी और गुण भी एक-दूसरे को सन्तुलित कर लेते हैं। उसके चरित्र में हमें अग्रलिखित मुख्य बातें मिलती हैं
(1) उसकी सुन्दरता – पोर्शिया में न केवल शारीरिक सौन्दर्य है अपितु उसको चरित्र भी सुन्दर है। वह सुनहरे बालों वाली है और उसकी सुन्दर जुल्फें कनपटी पर भेड़ के सुन्दर रोवे के समान लटकी रहती हैं। वह अपने शारीरिक सौन्दर्य के लिए प्रसिद्ध है इसीलिए सभी उसकी इच्छा करते हैं। उसके पास काफी मात्रा में चारित्रिक सौन्दर्य भी है। वह एक आदर्श, कर्तव्यपरायण प्रिय तथा आत्म विवेचक स्त्री है। वह अपने मृत पिता की अन्तिम इच्छा का पालन करती है और उसे थोड़ा-सा भी नहीं नकारती।

(2) उसकी बुद्धिमानी – उसके बहुत से प्रेमी उसके पास आते हैं और वह उनके चरित्र को तुरन्त समझ जाती है। उसकी बुद्धिमानी का अनुमान उसकी इसी बात से लग जाता है कि एण्टोनियो का पत्र पढ़ने के बाद बेसैनियो कितना परेशान है इस बात को वह तुरन्त समझ जाती है। उसके चेहरे के बदले हुए रंग को वह देखती है और अनुभव कर लेती है कि वह कितना परेशान है क्योंकि पत्र के माध्यम से उसे अपने मित्र के विषय में कोई बुरा समाचार मिला है। पोर्शिया को ऐसी योजना बनाने में तनिक-सी भी देर नहीं लगती कि एण्टोनियो को कैसे बचाया जाए।

(3) उसकी न्याय के प्रति शक्तिशाली भावना – पोर्शिया की न्याय के प्रति शक्तिशाली भावना थी। जब एण्टोनियो का जीवन बचाने के लिए बेसैनियो ड्यूक के कानून तोड़ने की प्रार्थना करता है, पोर्शिया तुरन्त विरोध करती है कि ऐसा करने से वेनिस के कानून का महत्त्व और कीमत सदा के लिए नष्ट हो जाएगी। उसका न्याय के प्रति प्रेम भी दया और करुणा से प्रभावित होता है। कोर्ट में प्रवेश करने के तुरन्त बाद वह शाइलॉक से एण्टोनियो पर दया दिखाने की प्रार्थना करती है। किन्तु असफल हो जाती है। फिर वह ऐसे तर्क रखती है और मुकदमे की पैरवी इतनी अच्छी प्रकार करती है कि एण्टोनियो का जीवन बच जाता है और शाइलॉक अपने ऊपर दया दिखाने की प्रार्थना करता है। इस प्रकार पोर्शिया का चरित्र सुन्दरता, सबसे अच्छे मानवीय गुणों, महान बुद्धिमत्ता, दृढ़ निश्चय, चारित्रिक शक्ति, अपने पति और मृत पिता के प्रति निष्ठा से भरपूर है।)

Question 18.
Compare and contrast the characters of Antonio and Bassanio.
(एण्टोनियो तथा बेसैनियो के चरित्र की तुलना कीजिए।) [2013, 15]
Answer :
Antonio and Bassanio are true friends. Both love each other and are ready to help. Yet each of them has his own characteristics which are given below : Both are sincere and intimate. Antonio is so much sincere for Bassanio that he signs a fatal bond for his friend’s happiness. The bond is to be expired but he does not tell Bassanio lest he should mar his happiness in Belmont. When Bassanio goes to Belmont, he bursts into tears. Bassanio also loves and trusts Antonio. He clearly tells him that he wants money to win the hand to Portia.

Both are Christians and hate the jews. So they do not tolerate Judaism. Antonio finds faults with Shylock for his usuary, abuses him and even spits at him.

Moreover there are some characteristics which one has while another does not have. Antonio is weak hearted. At the expiry of bond, he goes to Shylock and begs him of mercy. Due to this weakness, he is called a Passive hero. Bassanio is extravagant and fortune hunter. Yet he is a cultured man and never uses bad words about Shylock or his religion.

(एन्टोनियो तथा बेसैनियो पक्के मित्र हैं। दोनों एक-दूसरे से प्रेम करते हैं और सहायता करने के लिए तत्पर रहते हैं। फिर भी उनमें से प्रत्येक के अपने-अपने लक्षण हैं जो आगे दिए गए हैं दोनों ही एक-दूसरे के प्रति सच्चे और घनिष्ठ हैं। एन्टोनियो बेसैनियो के प्रति इतना सच्चा है कि वह अपने मित्र की खुशी के लिए प्राणघातक दस्तावेज पर हस्ताक्षर कर देता है। बाँड का समय समाप्त होने को है, किन्तु वह बेसैनियो को भी नहीं बताता कहीं ऐसा न हो कि बैलमॉण्ट में उसकी खुशी में विघ्न पड़ जाए। जब बेसैनियो बैलमॉण्ट जाता है तब वह फूट-फूट कर रोता है। बेसैनियो भी एन्टोनियो से प्यार करता है और उस पर भरोसा करता है। वह उसे साफ-साफ बता देता है कि उसे पोर्शिया से विवाह करने के लिए धने चाहिए। दोनों ईसाई हैं और यहूदियों से घृणा करते हैं। इसलिए वे यहूदीवाद को सहन नहीं कर पाते। एन्टोनियो शाइलॉक की सूदखोरी के लिए उसमें बुराइयाँ हूँढ़ता है, उसे बुरा-भला कहता है और यहाँ तक की उस पर थूकता है।

इसके अतिरिक्त कुछ ऐसे लक्षण भी हैं जो एक में हैं किन्तु दूसरे में नहीं। एण्टोनियो कमजोर हृदय वाला व्यक्ति है। दस्तावेज की समय-सीमा समाप्त होने पर वह शाइलॉक के पास जाता है और उससे दया की प्रार्थना करता है। इस कमजोरी के कारण ही उसे एक निष्क्रिय नायक कहा जाता है। बेसैनियो फिजूलखर्जी करने वाला तथा भाग्यवादी है। फिर भी वह सुसंस्कृत व्यक्ति है और कभी भी शाइलॉक या उसके धर्म के प्रति बुरे शब्दों का प्रयोग नहीं करता।)

Question 19.
Point out the improbabilities in the Merchant of Venice. Explain how Shakespeare account for them?
( मर्चेन्ट ऑफ वेनिस’ नामक नाटक में जो अनहोनी घटनाएँ हुई बताइए। यह भी समझाइए कि शेक्सपियर ने उन्हें कैसे समझाया है।)
Answer :
There are several improbabilties in all the four stories-The Bond story-the Casket story-the Lorenzo Jessica story and the Rings story. Shakespeare has tried to account for them by creating a ‘dramatic illusion’.
(1) In the Bond Story : Antonio knew Shylock well and often found fault in him and abused him. He should not have agreed with him and with the condition of one pound flesh from his body. Second improbability is that a rich merchant like him hasn’t even three thousand ducats. The third improbability is that Antonio never thought about the danger he would have to face on the expiry of bond. The fourth improbability is how Duke accepts Shylock’s suit totally based on inhuman, cruelty. Fifth improbability is how the court accepted Portia’s plea of not shedding a drop of blood and taking of exact one pound flesh. Last improbability is that Portia’s and Nerissa’s disguise could not be recognised by anyone.

(2) In the Lorenzo Jessica Story : First improbability is that Shylock goes to have supper with a christian while he hates Christianity and second he gives all his keys to Jessica.

(3) In the Casket Story : The first improbability is Portia’s marriage through the lottery of caskets according to the will of her father—a strange way of marriage. The second improbability is that only Bassanio and no other suitor is able to choose right casket.

(4) The Rings Episode : There is only one improbability that Antonio is informed in Belmont that all his ships, previously believed to have been lost, have returned home safety Conclusion: The play is full of improbabilities. But Shakespeare has tried to account for them through the element of chance and such dramatic devices.

(सभी चारों कहानियों में कई अनहोनी घटनाएँ है। वे चारों कहानियाँ हैं—बॉण्ड स्टोरी, कास्केट स्टोरी– लॉरेंजो जेसिका स्टोरी तथा रिंग स्टोरी। शेक्सपियर ने नाटकीय मतिभ्रम पैदा करके उन्हें समझाने की कोशिश की है।
(1) बॉण्ड स्टोरी में – एण्टोनियो शाइलॉक को भली प्रकार जानता था और बहुधा उसमें दोष हूँढ़ता था तथा उसे गालियाँ देता था। उसे (एण्टोनियो को) उससे (शाइलॉक से) सहमत नहीं होना चाहिए था और न अपने शरीर से एक पौंड मांस की शर्त से, दूसरी असम्भावना यह है कि इतना धनी व्यापारी होते हुए भी उसके पास तीन हजार ड्यूकेट्स नहीं हैं। तीसरी असम्भावना यह है कि एण्टोनियो ने उस खतरे के विषय में तनिक भी नहीं सोचा जिसका सामना उसे बॉण्ड की अवधि समाप्त होने पर करना पड़ सकता है। चौथी असम्भावना यह है कि ड्यूक ने शाइलॉक के ऐसे मुकदमे को क्यों स्वीकार कर लिया जो पूर्ण रूप से अमानवीय अत्याचार पर आधारित है। पाँचवी असम्भावना यह है कि कोर्ट ने पोर्शिया के इस तर्क को कैसे स्वीकार कर लिया कि मांस’लेते समय रक्त की एक बूंद भी न बहे और सही एक पौंड मांस ही लिया जाए न कम न ज्यादा। अन्तिम असम्भावना यह है कि पोर्शिया और नेरिसा को पुरुष के नकली भेष में कोई भी न पहचान पाए।

(2) लॉरेंजो जेसिका स्टोरी में – पहली असम्भावना यह है कि शाइलॉक एक ईसाई के साथ शाम का भोजन करने जाता है जबकि वह ईसाई धर्म से घृणा करता है और दूसरी यह कि वह अपनी सारी चाबियाँ जेसिका को दे देता है।

(3) कास्केट स्टोरी में – पहली असम्भावना है पोर्शिया का विवाह उसके पिता की इच्छा के अनुसार बक्सों की लॉटरी से हो—शादी का एक अद्भुत ढंग। दूसरी असम्भावना यह है कि केवल बेसैनियो और कोई अन्य चुनावकर्ता सही बक्से को नहीं चुन पाता है।

(4) रिंग एपिसोड में – इसमें केवल एक ही असम्भावना है कि एण्टोनियो को बेलमॉण्ट में सूचित किया जाता है कि उसके सभी जहाज घर सुरक्षित वापस आ गए हैं जबकि पहले बताया गया था कि सभी खो गए हैं। निष्कर्ष-नाटक असम्भावनाओं से भरा पड़ा है। किन्तु शेक्सपियर ने उनकी सफाई देने की कोशिश की है। कि यह सब संयोग और नाटक सम्बन्धी तरकीबों के कारण हुआ।)

Question 20.
What is meant by Comedy ? In what sense is ‘The Merchant of Venice’a romantic comedy? [2014]
(Comedy सुखान्त नाटक का क्या अर्थ है ? किस प्रकार मर्चेन्ट ऑफ वेनिसएक रोमाण्टिक कॉमेडी है?)
Answer :
Comedy is a stage play which is full of humour and laughter. But Shakespeare’s comedies possess a strong and well developed love interest along with certain complications of plot, disguises and various other devices one essential trait of comedy is the absence of death.

The Merchant of Venice has two main reasons in favour of its being a comedy. First is the element of love, a romantic theme and second is its happy end with the hero victorious and the villain vanguished. By the end of the play the three pairs of lovers are happily united and all obstacles in the path of true love are removed. Portia and Bassanio are united to each other. Their pretended quarrel over the wedding rings comes to an end. The shadow of Antonio’s possible death, that hangs over their happiness is also removed. In the same way the love affairs of Gratiano and Nerissa are fulfilled after Bassanio wins the hand of Portia. By the trick of Antonio all the property of Shylock is gifted to Lorenzo and thus Lorenzo becomes a rich man. Thus the union of the three pairs of lovers make the play essentially a comedy.

Another characteristic of comedy–frequent interludes which cause laughter is also found in the play. The actions and words of Lorenzo are a source of perpetual laughter. Portia’s comments also frequently force the audience to laugh. Finally, the entire ring episode is designed to create laughter and to destroy the tension generated by the trial scene.

But some critics see the another side of Shylock and feel that Shylock is turned into a cruel and malicious man. Thus the critics who feel sympathy for Shylock view the. play as a tragi comedy while those who have no sympathy for him see the play as a pure comedy.

(कॉमेडी एक ऐसा नाटक होता है जो रसिकता और हँसी से भरपूर हो। किन्तु शेक्सपियर की कॉमेडी में भली प्रकार से विकसित और शक्तिशाली प्रेम प्रसंग भी होता है जिसके साथ कथानक की कुछ जटिलताएँ, भेष बदलना और अन्य प्रकार के तरीके भी होते हैं। कॉमेडी का एक आवश्यक गुण मृत्यु का न होना भी है। मर्चेन्ट ऑफ वेनिस के कॉमेडी होने के पक्ष में दो मुख्य कारण हैं। पहला है—प्रेम का तत्त्व अर्थात् प्रेम से । सम्बन्धित विषय और दूसरा है इसका अन्त सुखदायी हो और इसके नायक की जीत हो तथा इसके विलेन की हार। नाटक के अन्त तक प्रेमियों के तीन जोड़ों का आनन्दपूर्वक मिलन हो जाता है और सच्चे प्रेम के मार्ग में आने वाली सभी बाधाएँ दूर हो जाती हैं। पोर्शिया और बेसैनियो एक-दूसरे से मिल जाते हैं। शादी की अंगूठियों पर उनका बनावटी झगड़ा समाप्त हो जाता है। एण्टोनियो की सम्भावित मृत्यु का साया जो उनकी खुशियों पर लटका हुआ था, हट जाता है। इसी प्रकार ग्रेशियानो और नेरिसा की प्रेम कहानी भी उस समय पूरी हो जाती है जब बेसैनियो पोर्शिया का विवाह के लिए हाथ पकड़ लेता है अर्थात् सही बक्सा चुन लेता है। एण्टोनियो की चालाकी से शाइंलॉक की सारी सम्पत्ति का वारिस लॉरेंजो बन जाता है और इस प्रकार लारेंजो एक धनी व्यक्ति बन जाता है। इस प्रकार प्रेमियों के तीन जोड़ों का मिलन नाटक को निश्चित रूप से कॉमेडी बनाता है।

कॉमेडी का दूसरा लक्षण है नाटक के बीच-बीच में बार-बार आने वाली वे छोटी कथाएँ या घटनाएँ जो हँसी पैदा करें, वे भी इस नाटक में विद्यमान हैं। लारेंजो के शब्द और उसकी गतिविधियाँ लगातार हँसी का स्रोत हैं। पोर्शिया की टिप्पणियाँ भी श्रोताओं को हँसने के लिए विवश कर देती हैं। अन्त में पूरी अंगूठियो का प्रसंग भी हँसी पैदा करने और ट्रायल सीन में पैदा हुए तनाव को दूर करने के लिए बनाया गया है। किन्तु कुछ आलोचक शाइलॉक का दूसरा पहलू देखते हैं और अनुभव करते हैं कि शाइलॉक एक क्रूर और द्रोही बन गया। इस प्रकार वे आलोचक जो शाइलॉक से सहानुभूति रखते हैं वे इस नाटक को tragi-comedy [दुःखान्त सुखान्त मिश्रितों की श्रेणी में रखते हैं और जिन्हें उससे कोई सहानुभूति नहीं है वे इस नाटक को comedy [सुखान्त] ही मानते हैं।)

Question 21.
What is the main reason of the popularity of the Merchant of Venice ? [2012, 13]
(Merchant of Venice की प्रसिद्धि का मुख्य कारण क्या है?)
Or
The Merchant of Venice is the evidence of Shakespeare’s dramatic genius. Discuss. [2015]
(The Merchant of Venice शेक्सपीयर की असाधारण नाटकीय क्षमता का सबूत है। वर्णन कीजिए।)
Answer :
The Merchant of Venice is one of the Shakespear’s most popular romantic comedies. Shakespear’s romantic comedies contain recognizable plot devices, character types and story development that make them both familiar and enduring. The main plot involves young lovers who overcome the barriers that stand in their way. The Merchant of Venice interweaves three love stories

  • Love story of Portia and Bassanio,
  • Love story of Nerissa and Gratiano, and
  • Love story of Jessica and Lorenzo.

In this play Portia occupies the place of heroine and she meets three challenges in three plots-

  • in the Casket plot she fulfills her father’s will to marry the man she loves,
  • in the Trial plot she restores her husband’s honour by reaching the court in lead the case of Antonio and thus defeats Shylock and
  • in Ring plot she teaches her husband that he loves her more than he does to Antonio.

The final demonstration of her intelligence, integrity, passion, wit and virtue ensures a happy marriage for,

  • Nerissa and Gratiano,
  • Jessica and Lorenzo and
  • herself and Bassanio.

The romantic comedy ends here with all three couples married. Thus the reason of popularity of Merchant of Venice is easily recognised. It is a play with rich romantic elements that raises complex issues of justice, mercy and the bonds that join people together.

(Merchant ofVenice शेक्सपियर की सर्वाधिक प्रसिद्ध रोमांटिक कॉमेडीज में से एक है। शेक्सपियर की रोमांटिक कॉमेडीज में निम्न बातें सम्मिलित होती हैं-प्रमाणित कथावस्तु के प्रकार, पात्रों के प्रकार और कथा का विकास जो इन्हें प्रसिद्ध भी बनाती हैं और टिकाऊ भी। मुख्य कथावस्तु में नौजवान प्रेमी शामिल हैं। जो अपने मार्ग में आने वाली रुकावटों पर काबू पा लेते हैं। मर्चेण्ट ऑफ वेनिस तीन प्रेम कहानियों का ताना-बाना बुनता है-

  • पोर्शिया और बेसैनियो की प्रेमकथा,
  • नैरिसा और ग्रेशियानो की प्रेमकथा, और
  • जेसिका तथा लारेंजो की प्रेमकथा।

इस नाटक में पोर्शिया हीरोइन (नायिका) का स्थान घेरती है और वह तीन प्लाटों में तीन चुनौतियाँ का मुकाबला करती है–

  • बक्सों के प्लाट में वह अपने पिता की उस इच्छा को पूरा करती है कि अपनी इच्छा के व्यक्ति से विवाह करना,
  • ट्रायल प्लाट में भेष बदलकर एण्टोनियो के मुकदमे की पैरवी करने के लिए कोर्ट में पहुँचती है और शाइलॉक को हराकर अपने पति के सम्मान को बचाती है और
  • रिंग प्लाट में वह अपने पति को सिखाती है वह एण्टोनियो से अधिक उससे प्यार करता है।

उसकी बुद्धि, ईमानदारी, उत्कण्ठा, चतुराई और सद्गुण का अन्तिम प्रदर्शन तब होता है जब वह तीन जोड़ों को विवाह सूत्र में बाँधती है,

  • नैरिशा और ग्रेशियानो को,
  • जेसिका और लॉरेंजो को और
  • स्वयं को और बेसैनियो को।

रोमांटिक कॉमेडी को तीनों जोड़ों के प्रणय-सूत्र के साथ अन्त हो जाता है। इस प्रकार Merchant of Venice की प्रसिद्धि आसानी से जानी जा सकती है। यह एक ऐसा नाटक है जिसमें उन रोमांटिक तत्त्वों का बाहुल्य है जो न्याय, दया और बन्धनों के उन मुद्दों को उठाते हैं जो व्यक्तियों को संगठित करते हैं।)

We hope the UP Board Solutions for Class 12 English The Merchant of Venice Long Answer Type Questions help you. If you have any query regarding UP Board Solutions for Class 12 English The Merchant of Venice Long Answer Type Questions, drop a comment below and we will get back to you at the earliest.

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *