UP Board Solutions for Class 4 EVS Hamara Parivesh Chapter 2 उत्तर प्रदेश- प्राकृतिक बनावट व रहन-सहत

UP Board Solutions for Class 4 EVS Hamara Parivesh Chapter 2 उत्तर प्रदेश-

प्राकृतिक बनावट व रहन-सहत

प्रश्न.
तुम्हारे इलाके में किन-किन साधनों से सिंचाई होती है?
उत्तर:
हमारे यहाँ नलकूपों व नहरों से सिंचाई होती है।

उत्तर प्रदेश-प्राकृतिक बनावट व रहन-सहतपता करो और लिखो अभ्यास

प्रश्न १.
भाबर की विशेषताएँ लिखो।
उत्तर:
हिमालय से नीचे व मैदानों से ऊपर भाबर और तराई वाला भाग है। इस भाग में नदियों का बहाव धीमा हो जाता है। ये नदियाँ यहाँ रोड़े तथा पत्थरों को जमा कर देती हैं। रोड़े-पत्थर व मोटे कणों से बना यह मिट्टी वाला भाग भाबर कहलाता है। इसका निचला भाग तराई भाग कहलाता है।

प्रश्न २.
भाबर-तराई में पाए जाने वाले वृक्षों एवं पशुओं की सूची बनाओ।
उत्तर:
भाबर-तराई में घने जंगल हैं। इनमें शीशम, साल, साखू व खैर की चौड़ी पत्ती वाले वृक्ष पाए जाते हैं। हाथी, बाघ, तेंदुआ, सूअर, नीलगाय, हिरन, आदि जन्तु पाए जाते हैं।

प्रश्न ३.
निम्नलिखित की सूची बनाओ-
(क) तराई भाग में बोयी जाने वाली प्रमुख फसलें।
उत्तर:
गन्ना, धान तथा गेहूँ प्रमुख फसलें हैं।

(ख) सराई भाग के लोगों का प्रमुख व्यवसाय।
उत्तर;
लोग खेती करते हैं। सिंचाई व्यवस्था अच्छी है। नलकूप और नहरों से पानी मिलता है। लोग कागज, फर्नीचर, चीनी और दस्तकारी उद्योगों में लगे हैं।

(ग) तराई क्षेत्र में रहने वाले पुराने निवासी।
उत्तर:
‘थारु’ और ‘बोक्सा’ लोग यहाँ के पुराने निवासी हैं। अब पंजाब, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल से भी लोग यहाँ आने लगे हैं।

(घ) तराई क्षेत्र में बोली जाने वाली बोलियाँ।
उत्तर:
कुमाऊँनी, गढ़वाली भोजपुरी, पंजाबी और बांग्ला आदि हैं।

(ङ) तराई क्षेत्र के लोगों का प्रमुख भोजन।
उत्तर:
चावल, गेहूँ, शाक-सब्जी और पशुओं से प्राप्त दूध एवं अन्य सामग्री से निर्मित यहाँ का भोजन मैदानों के निवासियों जैसा ही है।

प्रश्न ४.
खाली स्थान भरो (भरकर)
उत्तर:
दुधवा नेशनल पार्क लखीमपुर खीरी जिले में है। यहाँ हिरन, बाघ, बारहसिंगा आदि जानवर पाए जाते हैं।

प्रश्न ५.
यदि वनों की कटान अधिक होती है, तो आस-पास के क्षेत्र में उसका क्या प्रभाव पड़ेगा? लिखो।
उत्तर:
वनों के कटान अधिक होने से आस-पास के क्षेत्र की भूमि कटकर, तराई का मैदान बन जाएगा।

प्रश्न ६.
तुम्हारे अनुसार यहाँ के लोगों की क्या समस्याएँ होंगी?
उत्तर:
यहाँ के लोगों की शिक्षा, सिंचाई, आवागमन-परिवहन और व्यवसाय आदि संबंधित समस्याएँ होंगी।

प्रश्न ७.
पता करो-शीशम, बेंत और खैर से क्या-क्या बनता है?
उत्तर:
शीशम – तख्ते, शहतीर और दरवाजे
बेंत – डलिया, फर्नीचर
खैर – कत्था निकाला जाता है

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *